प्रोविडेंट फंड गाइड

2 मिनट का आर्टिकल

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ) प्लान भारत में प्रचलित सबसे लोकप्रिय सरकारी सहायता प्राप्त लॉन्ग-टर्म सेविंग स्कीम है, जिसमें टैक्स सेविंग, रिटर्न और सुरक्षा जैसे लाभ शामिल होते हैं. इसे बचत-संचयी-टैक्स सेविंग इन्वेस्टमेंट विकल्प के रूप में भी जाना जाता है, क्योंकि इसके ज़रिए आप अपने वार्षिक टैक्स को कम करके रिटायरमेंट के लिए फंड बना सकते हैं. पीपीएफ अकाउंट टैक्स सेविंग करने और सुनिश्चित लाभ अर्जित करने की इच्छा रखने वाले व्यक्ति के लिए एक सुरक्षित इन्वेस्टमेंट विकल्प है.

स्टॉक और इक्विटी आपको महत्वपूर्ण लाभ जनरेट करने में मदद कर सकते हैं, लेकिन उनमें कुछ जोखिम भी शामिल होते हैं. निश्चित आय चाहने वालों के लिए फिक्स्ड डिपॉजिट सबसे लोकप्रिय इन्वेस्टमेंट विकल्पों में से एक है.

इस प्रोग्राम के तहत, आपको एक पीपीएफ अकाउंट के लिए रजिस्टर करना होगा, और पूरे वर्ष के दौरान जमा किए गए पैसों पर सेक्शन 80 C कटौती के तहत क्लेम किया जाएगा.

अपना पीएफ बैलेंस कैसे चेक करें

जो लोग अपने पीएफ विवरण चेक करना चाहते हैं, उनके पास एक ऐक्टिव यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (यूएएन) होना चाहिए, जो उन्हें अपने पीएफ अकाउंट बैलेंस को रिव्यू करने में मदद कर सकता है. आप यहां दिए गए चरणों का पालन करके अपना प्रोविडेंट फंड बैलेंस ऑनलाइन चेक कर सकते हैं:

  • EPFO वेबसाइट पर जाएं
  • अपना UAN और पासवर्ड दर्ज करें
  • अपना EPF अकाउंट स्टेटमेंट देखें और डाउनलोड करें

आप अपने रजिस्टर्ड फोन नंबर से 011-22901406 पर मिस्ड कॉल देकर भी अपना बैलेंस चेक कर सकते हैं.

एसएमएस भेजकर पीएफ बैलेंस चेक करें

यूएएन ऐक्टिवेटेड सदस्य रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से 7738299899 पर एसएमएस भेजकर ईपीएफओ के साथ उपलब्ध अपना लेटेस्ट पीएफ योगदान और बैलेंस चेक कर सकते हैं. “EPFOHO UANH लिखकर 7738299899 पर भेजें.

मिस्ड कॉल के माध्यम से पीएफ बैलेंस चेक करें

ईपीएफओ मेंबर, अपने यूएएन पर रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से 011-22901406 पर मिस कॉल देकर ईपीएफओ मिस्ड कॉल सर्विस का उपयोग करके अपना पीएफ बैलेंस चेक कर सकते हैं.

उमंग/ईपीएफओ ऐप का उपयोग करके पीएफ बैलेंस चेक करें

उमंग/ईपीएफओ ऐप का उपयोग करके पीएफ बैलेंस चेक करने के चरण इस प्रकार हैं:

  • उमंग/ईपीएफओ ऐप डाउनलोड करने के बाद, 'सदस्य' पर क्लिक करें और फिर 'बैलेंस/पासबुक' पर जाएं'.
  • अपना यूएएन और रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर दर्ज करें. यह सिस्टम आपके यूएएन के लिए आपके मोबाइल नंबर को सत्यापित करेगा. अगर सभी विवरण सत्यापित हो जाते हैं, तो आप अपने अपडेटेड ईपीएफ बैलेंस का विवरण देख सकेंगे.

पीएफ कैसे निकालें, क्लेम करें या ट्रांसफर करें

जब आपके पीएफ अकाउंट से फंड निकालने की बात आती है, तो आप या तो फिजिकल एप्लीकेशन या ऑनलाइन एप्लीकेशन सबमिट करने का विकल्प चुन सकते हैं. ऐसा करने का सबसे अच्छा तरीका है ईपीएफओ की वेबसाइट पर जाना. पैसा ट्रांसफर या निकालने की प्रोसेस शुरू करने के लिए निम्न में से किसी भी एक माध्यम का उपयोग करें:

  • UAN
  • डिज़िटल सिग्नेचर
  • आधार कार्ड और पर्सनल विवरण

आप ईपीएफओ वेबसाइट पर प्रोविडेंट फंड की जानकारी के बारे में भी ऑनलाइन पढ़ सकते हैं. पीएफ के ऑनलाइन ट्रांसफर के लिए, फॉर्म 13 को भरना होगा. दूसरी ओर, निकासी या क्लेम से संबंधित डॉक्यूमेंट में फॉर्म 31 (पीएफ फंड का आंशिक निकासी), फॉर्म 10सी (पेंशन निकासी) और फॉर्म 19 (अंतिम पीएफ सेटलमेंट) शामिल हैं.

पीएफ योगदान

नियोक्ता के योगदान को नीचे दी गई श्रेणियों में विभाजित किया जाता है:

कैटेगरी

योगदान का प्रतिशत (%)

एम्प्लोयी प्रोविडेंट फंड

3.67

एम्प्लोयी पेंशन स्कीम (ईपीएस)

8.33

एम्पलॉई डिपॉजिट लिंक्ड इंश्योरेंस स्कीम (ईडीएलआईएस)

0.50

ईपीएफ एडमिन शुल्क

1.10

ईडीएलआईएस एडमिन शुल्क

0.01

फिक्स्ड डिपॉजिट में इन्वेस्ट करें

जब आप अपने प्रॉविडेंट फंड अकाउंट से पैसे निकालते हैं, तो आपके पास अपने रिटायरमेंट फंड के रूप में उपयोग करने के लिए अतिरिक्त राशि होती है. आप अपनी इस प्रॉविडेंट फंड राशि को मार्केट के उतार-चढ़ाव से बचाने और उच्च रिटर्न प्राप्त करने के लिए फिक्स्ड डिपॉजिट में इन्वेस्ट करने पर विचार कर सकते हैं.

बजाज फाइनेंस फिक्स्ड डिपॉजिट प्रति वर्ष 7.20% तक की उच्च ब्याज दर ऑफर करते हैं, जो सीनियर सिटीज़न्स के लिए 7.45% प्रति वर्ष तक जाती हैं. आप अपने ब्याज भुगतान की अवधि और फ्रिक्वेंसी भी चुन सकते हैं.

बजाज फाइनेंस फिक्स्ड डिपॉजिट को क्रिसिल और इकरा से उच्च सुरक्षा रेटिंग प्राप्त हैं, इसलिए आपका इन्वेस्टमेंट हमेशा सुरक्षित रहता है. एफडी अकाउंट खोलने और इन्वेस्ट करना शुरू करने के लिए ऑनलाइन प्रोसेस चेक करें.

फिक्स्ड डिपॉजिट राशि की मेच्योरिटी राशि की गणना करने के लिए एफडी कैलकुलेटर का उपयोग करें.

अधिक पढ़ें कम पढ़ें

सामान्य प्रश्न

मैं अपना PF बैलेंस कैसे चेक कर सकता/सकती हूं?

आप नीचे दिए गए कुछ तरीकों से अपना पीएफ बैलेंस चेक कर सकते हैं:

  • ईपीएफओ पोर्टल: आप ईपीएफओ पोर्टल पर उपलब्ध ईपीएफ ई-पासबुक से अपना पीएफ बैलेंस चेक कर सकते हैं. आप अपने यूएएन के साथ पोर्टल में लॉग-इन कर सकते हैं.
  • उमंग ऐप: आप उमंग (यूनिफाइड मोबाइल ऐप फॉर न्यू गवर्नेंस) ऐप का उपयोग करके अपना पीएफ बैलेंस भी चेक कर सकते हैं. आप 9718397183 पर मिस कॉल करके यह ऐप डाउनलोड करने का लिंक प्राप्‍त कर सकते हैं. आप इसे उमंग वेबसाइट या ऐप स्टोर से भी डाउनलोड कर सकते हैं.
  • मिस्ड कॉल सर्विस: यूएएन पोर्टल पर रजिस्टर्ड सदस्य अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से 011-22901406 पर मिस्ड कॉल दे सकते हैं. अगर आपका यूएएन आपके बैंक अकाउंट नंबर, पैन नंबर या आधार नंबर से लिंक है, तो आपको अपने अंतिम ईपीएफ योगदान और पीएफ बैलेंस के विवरण के साथ एक एसएमएस प्राप्त होगा.
  • ईपीएफओ की एसएमएस सर्विस: ऐक्टिवेटेड यूएएन वाले सदस्य अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से EPFOHO UAN ENG (ENG: आपकी पसंदीदा भाषा) लिखकर 7738299899 पर एसएमएस भेज सकते हैं. यह सुविधा 10 क्षेत्रीय भाषाओं में उपलब्ध है.
मैं अपना PF UAN नंबर कैसे प्राप्त कर सकता/सकती हूं?

आप अपने नियोक्ता से अपना UAN प्राप्त कर सकते हैं. अधिकांश कंपनियां पेस्लिप पर यूएएन नंबर प्रिंट करती हैं. हालांकि, अगर आपके नियोक्ता ने अभी तक आपका UAN नंबर शेयर नहीं किया है, तो आप निम्‍नलिखित चरणों का पालन करके इसे प्राप्‍त कर सकते हैं:

  • ईपीएफओ के यूनिफाइड मेंबर पोर्टल पर जाएं और 'अपना यूएएन स्टेटस जानें' विकल्प चुनें.
  • आपको अपना यूएएन प्राप्त करने के लिए तीन विकल्प मिलेंगे. आप अपनी PF मेंबर ID, आधार नंबर या PAN नंबर से UAN प्राप्‍त कर सकते हैं. इन तीन विकल्पों में से कोई एक विकल्प चुनें.
  • आपको किसी अन्य पेज पर ले जाया जाएगा, जहां आपको अपना व्यक्तिगत विवरण जैसे नाम, मोबाइल नंबर, जन्मतिथि, ईमेल आईडी आदि दर्ज करने होंगे.
  • इन विवरण सबमिट करने के बाद, आपको अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ऑथोराइज़ेशन पिन प्राप्त होगा.
  • इस पिन को दर्ज करने के बाद, आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर और ईमेल ID पर आपका UAN भेज दिया जाएगा.
प्रोविडेंट फंड के लिए कौन पात्र है?

प्रति माह रु. 15,000 से कम सेलरी कमाने वाले सभी कर्मचारी प्रोविडेंट फंड प्राप्त करने के लिए पात्र हैं. इससे अधिक सेलरी प्राप्त करने वाले कर्मचारी पात्र नहीं हैं, लेकिन यह नियोक्ता के विवेकाधीन है. 20 से अधिक कर्मचारियों वाले सभी बिज़नेस संस्थानों के लिए EPFO का मेंबर बनना अनिवार्य है.

प्रोविडेंट फंड के क्या लाभ हैं?

प्रोविडेंट फंड भारत में सभी कर्मचारियों के लिए एक सेवानिवृत्ति निधि है. 20 से अधिक कर्मचारियों वाली संगठित या असंगठित क्षेत्र की सभी कंपनियों को प्रशासनिक संस्थान - एम्प्लॉयी प्रॉविडेंट फंड ऑर्गनाइज़ेशन (ईपीएफओ) के तहत रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य है. जब तक कर्मचारी कंपनी के साथ काम करता है, तब तक कंपनी और नियोक्ता, दोनों को इस फंड में योगदान देना होता है. नीचे बताया गया है कि आप प्रोविडेंट फंड से कैसे लाभ उठा सकते हैं:

  • धन संचित करें – ईपीएफ योगदान की नियमित कटौती आपकी पीएफ राशि में जमा होती है, जिससे समय के साथ-साथ आपको धन संचित होता जाता है.
  • अधिक रिटर्न – भारत सरकार इकॉनमी में प्रचलित ब्याज़ दरों के अनुसार ईपीएफओ के माध्यम से, संचित ईपीएफ फंड पर ब्याज़ का भुगतान करती है. स्माल सेविंग्स एक्ट के तहत, ब्याज़ दरों को प्रत्‍येक तिमाही में रिव्यू किया जाता है. विशेषज्ञों के अनुसार, अगर आपका ईपीएफ अकाउंट वर्षों से अधिक समय तक निष्क्रिय पड़ा रहता है, तो भी इस पर ब्याज़ अर्जित होता रहता है.
  • टैक्स लाभ – ईपीएफ अकाउंट में कर्मचारी का योगदान सेक्शन 80सी के तहत टैक्स छूट के लिए पात्र है, जिससे आपको अर्जित ब्याज़ पर टैक्स छूट मिलती है.
  • इंश्योरेंस लाभ – ईपीएफ के साथ, आप ईपीएफओ द्वारा प्रदान किए गए इंश्योरेंस कवर, कर्मचारी डिपॉजिट लिंक्ड इंश्योरेंस (ईडीएलआई) स्कीम के लाभ प्राप्त कर सकते हैं. इस स्कीम के तहत, सेवा अवधि के दौरान इंश्योर्ड व्यक्ति की मृत्यु होने पर रजिस्टर्ड नॉमिनी एकमुश्त राशि प्राप्त कर सकता है.
  • समय से पहले निकासी – ईपीएफओ आपको तत्काल आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए 5-10 वर्षों की सेवा के बाद आंशिक निकासी करने में सक्षम बनाता है.

इस प्रकार, ईपीएफ एक प्रभावी सेविंग विकल्प बनता है, जिससे आप अधिक बचत कर सकते हैं और अपनी रिटायरमेंट सेविंग को बढ़ा सकते हैं.

मैं अपने PF से अधिकतम राशि कैसे निकाल सकता/सकती हूं?

प्रोविडेंट फंड की राशि आपके कार्यकारी जीवन के दौरान संचित होती है, जिससे आप सुविधाजनक रिटायरमेंट सुनिश्चित कर पाते हैं. यहां देखें कि आप अधिकतम पीएफ राशि कैसे प्राप्त कर सकते हैं:

  • अगर आप अपने कार्यकारी जीवन में इसे विथड्रॉ नहीं करना चाहते, तो पीएफ समय के साथ संचित होता रहेगा. इस तरह, आपको अपने रिटायरमेंट के दौरान अधिकतम पीएफ राशि का भरोसा दिया जा सकता है.
  • अगर आप अपने रिटायरमेंट से 1 वर्ष पहले पैसे निकालना चाहते हैं, तो आप कुल निधि से अधिकतम 90% राशि निकाल सकते हैं.
  • नवीनतम ईपीएफ निकासी नियमों में नौकरी के खोने को भी शामिल किया गया है. इन नियमों के अनुसार, नौकरी छूटने के 1 महीने बाद, संचित EPF फंड से 75% राशि निकाली जा सकती है. शेष 25% राशि नौकरी छूटने के 2 महीने बाद निकाली जा सकती है.
  • इसमें कम से कम पांच से सात वर्ष की नौकरी के बाद आंशिक निकासी के लिए अन्य विकल्प भी हैं. ऐसी छुट्टियां मेडिकल एमरज़ेंसी, घर के रेनोवेशन, शादी और होम लोन भुगतान के लिए हो सकती हैं. इन सभी के कुछ नियम हैं, जो नीचे दिए गए हैं.

लेकिन, पांच वर्ष से पहले पैसे निकालने पर आप पर, आपके इनकम टैक्स ब्रैकेट के अनुसार टैक्स लगेगा.

अधिक पढ़ें कम पढ़ें