image

फिक्स्ड डिपॉजिट क्या है?

फिक्स्ड डिपॉजिट क्या है?

फिक्स्ड डिपॉजिट, बैंकों और गैर-बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनियों द्वारा प्रदान किया जाने वाला इन्वेस्टमेंट साधन है, जिसमें आप बचत सेविंग अकाउंट की तुलना में अधिक ब्याज़ दर पाने के लिए पैसा डिपॉजिट कर सकते हैं. आप फिक्स्ड डिपॉजिट में एक निश्चित अवधि के लिए लंपसम पैसा डिपॉजिट कर सकते हैं, जो हर फाइनेंसर के लिए अलग-अलग होता है.

एक बार जब राशि किसी विश्वसनीय फाइनेंसर के पास डिपॉजिट कर दी जाती है, तो डिपॉजिट की अवधि के आधार पर ब्याज़ मिलना शुरू हो जाता है. आमतौर पर FD ​​ के लिए जो मानदंड तय किए गए हैं, उनमें मेच्योरिटी से पहले पैसा वापस नहीं निकाला जा सकता है, हालांकि, आप निर्धारित दंडशुल्क का भुगतान करने के बाद पैसा वापस निकाल सकते हैं.

फिक्स्ड डिपॉजिट की विशेषताएं

  • इन्वेस्टर फिक्स्ड डिपॉजिट करके अपने अतिरिक्त पैसों पर उच्च ब्याज़ अर्जित कर सकते हैं
  • फिक्स्ड डिपॉजिट अकाउंट में केवल एक बार पैसे जमा किए जा सकते हैं, अगर आप ज्यादा पैसे जमा कराना चाहते हैं, तो आपको दूसरा अकाउंट खोलना होगा
  • हालांकि फिक्स्ड डिपॉजिट में लिक्विडिटी कम होती है, लेकिन आपको ब्याज़ की उच्च दरें मिलती हैं, जो कि कंपनी के फिक्स्ड डिपॉजिट पर और भी ज्यादा होती हैं
  • फिक्स्ड डिपॉजिट को आसानी से रिन्यू किया जा सकता है
  • आयकर अधिनियम, 1961 के अनुसार, फिक्स्ड डिपॉजिट पर अर्जित ब्याज़ पर टैक्स मूल राशि के आधार काटा जाता है.

फिक्स्ड डिपॉजिट के लाभ

फिक्स्ड डिपॉजिट इन्वेस्टमेंट के कई फायदे हैं, जिनमें से कुछ नीचे दिए गए हैं:

  • ये सबसे सुरक्षित इन्वेस्टमेंट साधन हैं, और अधिक स्थिरता प्रदान करते हैं
  • फिक्स्ड डिपॉजिट पर सुनिश्चित रिटर्न प्राप्त होती है, और मूल राशि पर जोखिम की कोई संभावना नहीं होती है
  • आप अपने मासिक खर्चों को प्रबंधित करने के लिए समय-समय पर ब्याज़ भुगतान का विकल्प चुन सकते हैं
  • आपके फिक्स्ड डिपॉजिट पर बाज़ार के उतार-चढ़ाव का कोई प्रभाव नहीं पड़ता है, जिससे आपकी इन्वेस्टमेंट की गई पूंजी सुरक्षित रहती है
  • आप कंपनी की फिक्स्ड डिपॉजिट पर प्रदान की गई उच्च ब्याज़ दरों का लाभ उठा सकते हैं
  • कुछ फाइनेंसर सीनियर सिटीज़न के लिए बेहतर रिटर्न देते हैं

फिक्स्ड डिपॉजिट पर टैक्स देयता

फिक्स्ड डिपॉजिट से अर्जित ब्याज़ कर योग्य होता है. FD पर मूल राशि से काटा गया टैक्स, इन्वेस्टर की इनकम टैक्स सीमा के आधार पर 0% से 30% तक हो सकता है. अगर एक वर्ष में आपका अर्जित ब्याज़ रु. 10,000 से अधिक है, और अगर उनके पास आपके PAN विवरण उपलब्ध हैं, तो फाइनेंसर 10% TDS काटते हैं. हालाँकि, अगर आपके पैन विवरण आपके वित्तीय संस्थान को नहीं दिए जाते हैं, तो 20%TDS काटा जाएगा.

अगर आपकी कुल आय 10% के न्यूनतम टैक्स स्लैब से कम है, तो आप काटी गई TDS की राशि का क्लेम कर सकते हैं. आप अपने फाइनेंशियल संस्थान को फॉर्म 15G जमा करके टैक्स कटौती से बच सकते हैं और अगर आप एक सीनियर सिटीज़न हैं तो फॉर्म 15H जमा करके टैक्स कटौती से बच सकते हैं. अगर आप उच्च टैक्स स्लैब (20% या 30%) में आते हैं, तो आपको आपके NBFC या बैंक द्वारा काटे गये TDS के अलावा भी टैक्स देना होगा.

यह भी पढ़ें: फॉर्म 15G और फॉर्म 15H क्या है

बजाज फाइनेंस के फिक्स्ड डिपॉजिट में इन्वेस्ट क्यों करें??

आप बजाज फाइनेंस से फिक्स्ड डिपॉजिट का विकल्प चुन सकते हैं, जो आपको उच्च ब्याज़ दर के साथ अधिक रिटर्न प्रदान करता है. आप सुविधाजनक अवधि, आसान ऑनलाइन एप्लीकेशन प्रोसेस के लाभ उठा सकते हैं, और केवल रु. 25,000 से इन्वेस्ट करना शुरू कर सकते हैं.

बजाज फाइनेंस फिक्स्ड डिपॉजिट के साथ, आपको FAAA रेटिंग की उच्च सुरक्षा देती है क्रिसिल और ICRA की MAAA रेटिंग. यह आपको सुनिश्चित रिटर्न अर्जित करने में मदद करती है, जिसे आपकी आवश्यकताओं के अनुसार कस्टमाइज़ आवधिक ब्याज़ भुगतान में भी परिवर्तित किया जा सकता है.

बजाज फाइनेंस फिक्स्ड डिपॉजिट शुरू करने के लिए डॉक्यूमेंट

अगर आप बजाज फाइनेंस फिक्स्ड डिपॉजिट में इन्वेस्ट करना चाह रहे हैं, तो पेश हैं आपके लिए आवश्यक डॉक्यूमेंट:

  • नवीनतम फोटो
  • प्रमाणित KYC डॉक्यूमेंट

पब्लिक या प्राइवेट लिमिटेड कंपनी

  • पैन:
  • इनकॉर्पोरेशन सर्टिफिकेट
  • एसोसिएशन का मेमोरैंडम और आर्टिकल
  • पार्टनरशिप डीड
  • FD अकाउंट खोलने के लिए बोर्ड का प्रस्ताव
  • अधिकृत हस्ताक्षरकर्ताओं के ID प्रूफ

पार्टनरशिप फर्म

  • पैन:
  • फर्म के KYC डॉक्यूमेंट
  • रजिस्ट्रेशन का सर्टिफिकेट
  • पार्टनरशिप डीड
  • नमूना हस्ताक्षर के साथ अधिकृत हस्ताक्षरकर्ताओं की लिस्ट
  • अधिकृत हस्ताक्षरकर्ताओं के ID प्रूफ

हिंदू अविभाजित परिवार

  • प्रमाणित KYC डॉक्यूमेंट
  • स्वयं प्रमाणित PAN कार्ड जिसमें HUF का नाम जुड़ा है
  • HUF की घोषणा का सहमति पत्र
  • HUF के नाम पर बैंक अकाउंट का विवरण/DEMAT स्टेटमेंट
  • HUF के सभी वयस्क सदस्यों के KYC डॉक्यूमेंट

वैधानिक बोर्ड/स्थानीय प्राधिकारी

  • पैन:
  • KYC डॉक्यूमेंट
  • नमूना हस्ताक्षर के साथ अधिकृत हस्ताक्षरकर्ताओं की लिस्ट
  • लेटरहेड पर सेल्फ सर्टिफिकेशन

रजिस्टर्ड सोसायटी

  • पैन:
  • KYC डॉक्यूमेंट
  • सोसायटी रजिस्ट्रेशन अधिनियम के तहत रजिस्ट्रेशन प्रमाण पत्र की प्रति
  • प्रबंध समिति के सदस्यों की लिस्ट
  • उनके नमूने हस्ताक्षर के साथ, अधिकृत हस्ताक्षरकर्ताओं के रूप में कार्य करने के लिए अधिकृत व्यक्तियों के लिए समिति संकल्प
  • अध्यक्ष या सचिव द्वारा प्रमाणित सोसायटी के नियमों व कानूनों की मूल प्रति

बजाज फाइनेंस फिक्स्ड डिपॉजिट की ब्याज़ दरें

बजाज फाइनेंस भारत में सबसे अधिक FD दरें ऑफर करता है. इन्हें यहां चेक करें

रु. 5 करोड़ तक की डिपॉजिट पर मान्य वार्षिक ब्याज़ दर (04 जुलाई 2020 से प्रभावी)

अवधि (महीने में) न्यूनतम डिपॉजिट (रु. में) संचयी गैर संचयी
मासिक त्रैमासिक अर्ध-वार्षिक वार्षिक
12 – 23 25,000 6.90% 6.69% 6.73% 6.79% 6.90%
24 – 35 7.00% 6.79% 6.82% 6.88% 7.00%
36 - 60 7.10% 6.88% 6.92% 6.98% 7.10%

दर के लाभ के आधार पर कस्टमर की कैटेगरी (प्रभावी होने की तिथि 04 जुलाई 2020):

+ 0.25% सीनियर सिटीज़न के लिए
+ 0.10% ऑनलाइन कस्टमर के लिए

रिन्यू करें:

डिपॉजिट के समय लागू ब्याज़ दर से +0.10% अधिक

बजाज फाइनेंस सीनियर सिटीज़न फिक्स्ड डिपॉजिट स्कीम

बजाज फाइनेंस फिक्स्ड डिपॉजिट में इन्वेस्ट करते समय, सीनियर सिटीज़न ब्याज़ की उच्च दर का लाभ उठा सकते हैं जिससे वे अपने इन्वेस्टमेंट पर बेहतर रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं

आप सीनियर सिटीज़न को दी जाने वाली आकर्षक ब्याज़ दरों को नीचे देख सकते हैं:

रु. 5 करोड़ तक की डिपॉजिट पर मान्य वार्षिक ब्याज़ दर (04 जुलाई 2020 से प्रभावी)

अवधि (महीने में) न्यूनतम डिपॉजिट (रु. में) संचयी गैर संचयी
मासिक त्रैमासिक अर्ध-वार्षिक वार्षिक
12 – 23 25,000 7.15% 6.93% 6.97% 7.03% 7.15%
24 – 35 7.25% 7.02% 7.06% 7.12% 7.25%
36 - 60 7.35% 7.11% 7.16% 7.22% 7.35%

फिक्स्ड डिपॉजिट कैलकुलेटर

बजाज फाइनेंस फिक्स्ड डिपॉजिट कैलकुलेटर के साथ, आप अपने रिटर्न का मूल्यांकन भी कर सकते हैं और अपने इन्वेस्टमेंट की योजना को इस प्रकार से बना सकते हैं जिससे आपको अधिकतम लाभ मिल सके. बजाज फाइनेंस FD कैलकुलेटर का उपयोग करना बहुत आसान है. आपको बस यह करना है:

  • अपना कस्टमर प्रकार चुनें (जैसे कि आप एक नए कस्टमर/मौजूदा लोन कस्टमर/सीनियर सिटीज़न हैं
  • फिक्स्ड डिपॉजिट का प्रकार चुनें जो आपके इन्वेस्टमेंट लक्ष्यों के अनुरूप हो- संचयी या गैर-संचयी
  • आपको जितना इन्वेस्टमेंट करना हैं उसे दर्ज़ करें
  • अपने इन्वेस्टमेंट की अविध चुनें

कुल ब्याज़ राशि और मेच्योरिटी राशि आपकी स्क्रीन पर दिखाई देगी.

बजाज फाइनेंस फिक्स्ड डिपॉजिट में इन्वेस्टमेंट के बारे में अभी भी कोई संदेह है? तो बजाज फिनसर्व कस्टमर पोर्टल इन्वेस्टर के निष्पक्ष रिव्यू पढ़ने के लिए या आप सीधे संपर्क कर सकते हैं बजाज फिनसर्व कस्टमर केयर ​​ से किसी भी सवाल के मामले में.