फोटो

बजाज आलियांज़ क्रिटिकल इलनेस इंश्योरेंस

विशेषताएं और लाभ

बजाज आलियांज़ की क्रिटिकल इलनेस पॉलिसी में क्रिटिकल इलनेस के कारण पड़ने वाला फाइनेंशियल बोझ कवर होता है जो रु. 50 लाख तक के एकमुश्त भुगतान के रूप में दिया जाता है.

  • गंभीर बीमारियों के लिए सहायता

    पॉलिसी में बताई गई किसी गंभीर बीमारी का इलाज करने पर एकमुश्त भुगतान पाएं.

  • 10 क्रिटिकल इलनेस को कवर किया गया है

    पॉलिसी 10 क्रिटिकल इलनेस को कवर करती है, जिनमें पहला हृदयाघात और प्रमुख अंग प्रत्यारोपण शामिल हैं.

  • रु. 50 लाख तक कवर करें

    क्रिटिकल इलनेस के कारण होने वाले खर्चों को कवर करने के लिए रु. 50 लाख तक की बीमा राशि पाएं.

  • उपयोग की सुविधा

    पॉलिसी राशि का उपयोग उपचार, जीवन शैली में परिवर्तन, डोनर खर्च, या विदेश में इलाज के लिए करें.

  • आसान क्लेम प्रक्रिया

    आंतरिक क्लेम प्रक्रिया द्वारा आसानी से क्लेम का निपटान करें.

  • डायग्नोसिस के बाद सहायता प्राप्त करें

    बीमारी के निदान के बाद पॉलिसी की राशि पाएं और इंश्योर्ड व्यक्ति का निदान के बाद 30 दिनों तक जीवित रहना आवश्यक है.

  • किफायती प्रीमियम

    आकस्मिक मेडिकल खर्चों के बोझ से बचने के लिए एक किफायती प्रीमियम राशि का भुगतान करें.

  • आजीवन रिन्यूअल

    पॉलिसी का भुगतान वार्षिक अंतराल पर किया जाता है और सामान्य परिस्थितियों में आजीवन रिन्यूअल का लाभ उपलब्ध रहता है.

  • टैक्स लाभ

    आयकर अधिनियम के 80D अनुभाग के तहत पॉलिसी के लिए भुगतान किए गए प्रीमियम पर कर में छूट पाएं.

  • एक महीना लंबा ग्रेस पीरीयड

    अपनी पॉलिसी को रिन्यू करने के लिए 30 दिनों का ग्रेस पीरियड पाएं, इस दौरान मेडिकल के खर्चे मान्य नहीं होंगे.

  • फ्री लुक पीरियड

    अगर आप पॉलिसी की शर्तों से सहमत नहीं हैं, तो पहले 15 दिनों के भीतर पॉलिसी को कैंसल करें.

पात्रता

यहां इस पॉलिसी की पात्रता के बारे में बताया गया है:


• एप्लीकेंट की आयु 18 से 65 वर्ष के बीच होनी चाहिए.
• आश्रित बच्चों की आयु 6 से 21 वर्ष के बीच होनी चाहिए.
• 6 से 60 सालों के लिए रु. 1 लाख से लेकर रु. 50 लाख तक का सम इंश्योर्ड और 61 से 65 सालों के लिए रु. 1 लाख से लेकर रु. 5 लाख तक का सम इंश्योर्ड.

यह कैसे काम करता है

क्रिटिकल इलनेस पॉलिसी के लिए अप्लाई और उपयोग करना आसान है. यहां बताया गया है कि यह कैसे काम करता है:

चरण 1 :

अपनी पॉलिसी की इंश्योर्ड राशि चुनें

चरण 2 :

अपना पर्सनल और मेडिकल विवरण प्रदान करें

चरण 3 :

प्री-पॉलिसी मेडिकल परीक्षण कराएं

चरण 4 :

हर वर्ष पॉलिसी रिन्यू कराएं