बिज़नेस लोन बजाज

  1. जानें
  2. >
  3. कार्यशील पूंजी

कार्यशील पूंजी

तुरंत अप्लाई करें

मात्र 60 सेकेंड
में अप्लाई करें

कृपया अपना प्रथम और अंतिम नाम दर्ज़ करें
10 अंकीय मोबाइल नंबर दर्ज़ करें
कृपया अपनी जन्मतिथि दर्ज़ करें
कृपया मान्य PAN कार्ड नंबर दर्ज़ करें
कृपया अपना पिनकोड दर्ज़ करें
व्यक्तिगत ईमेल एड्रेस दर्ज़ करें

मैं नियम व शर्तों को स्वीकार करता हूं और बजाज फाइनेंस लिमिटेड, उसके प्रतिनिधियों/ बिज़नेस पार्टनर/ सहयोगियों को प्रमोशनल कम्युनिकेशन/ सर्विसेज़ की पूर्ति के लिए मेरे विवरण का उपयोग करने के लिए अधिकृत करता/करती हूं.

धन्यवाद!

कार्यशील पूंजी क्या है?

कार्यशील पूंजी मूल रूप से छोटी अवधि में किसी भी संगठन की फाइनेंशियल स्थिति बताती है और इसकी संपूर्ण क्षमता के आकलन में मदद करती है. मौज़ूदा एसेट से वर्तमान देनदारियों को घटाकर कार्यशील पूंजी प्राप्त की जाती है. यह अनुपात यह दिखाता है कि शॉर्ट टर्म के लोन के लिए कंपनी के पास पर्याप्त एसेट है या नहीं.

कार्यशील पूंजी, दैनिक खर्चों को संचालित करने के लिए कंपनी के लिक्विडिटी स्तर के बारे में बताती है और इन्वेंटरी, नकद, देयता अकाउंट, प्राप्ति अकाउंट और छोटी अवधि के क़र्ज़ आदि को कवर करती है. कार्यशील पूंजी, कंपनी के कई परिचालनों जैसे कि, क़र्ज़ और इन्वेंटरी संचालन, सप्लायर भुगतान और राजस्व संग्रह आदि से निकाली जाती है.
 

कार्यशील पूंजी के स्रोत क्या हैं?

यह कार्यशील पूंजी के स्रोत लम्बी अवधि, लघु अवधि या स्वैच्छिक हो सकते हैं. स्वैच्छिक कार्यशील पूंजी मुख्य रूप से व्यापारिक क्रेडिट से ली गई है, जिसमें भुगतान योग्य नोट्स और बिल शामिल हैं, जबकि अल्पकालिक कार्यशील पूंजी स्रोतों में लाभांश या टैक्स प्रावधान, कैश क्रेडिट, सार्वजनिक डिपॉजिट ,ट्रेड डिपॉजिट,अल्पकालिक लोन, बिल छूट, इंटर -कॉर्पोरेट लोन और कमर्शियल पेपर भी शामिल हैं.

लंबी अवधि के लिए कार्यशील पूंजी स्रोतों में दीर्घकालिक लोन, डेप्रिशिएशन के प्रावधान, लाभ, डिबेंचर और शेयर पूंजी शामिल होती है. यह संगठनों के लिए उनकी आवश्यकताओं के आधार पर कार्यशील पूंजी के प्रमुख स्रोत हैं.

कार्यशील पूंजी के प्रकार क्या हैं?

वर्तमान में कार्यशील पूंजी के प्रकार बैलेंस शीट या ऑपरेटिंग साइकिल व्यू के आधार पर. बैलेंस शीट व्यू, कार्यशील पूंजी को निवल कार्यशील पूंजी (मौजूदा देयता को कंपनी की बैलेंस शीट में शामिल मौजूदा एसेट से घटाया जाता है) और सकल कार्यशील पूंजी (बैलेंस शीट में मौजूदा संपत्ति) में वर्गीकृत करता है.

दूसरी ओर, ऑपरेटिंग साइकिल व्यू कार्यशील पूंजी को अस्थायी (निवल कार्यशील पूंजी और स्थायी कार्यशील पूंजी के बीच अंतर) और स्थायी (फिक्स्ड एसेट) कार्यशील पूंजी में वर्गीकृत करता है. अस्थायी कार्यशील पूंजी को आरक्षित और नियमित कार्यशील पूंजी में भी बांटा जा सकता है. चुने गए व्यू के आधार पर ये कार्यशील पूंजी के प्रकार हैं.

कार्यशील पूंजी चक्र

कार्यशील पूंजी की साइकिल या WCC का अर्थ, वह समयावधि है जो किसी संगठन द्वारा निवल वर्तमान देयता और एसेट को नकद में बदलने के लिए इस्तेमाल की जाती है. यह प्रभावशाली तरीके से शॉर्ट-टर्म और उस पूरी साइकिल (जिसकी गणना दिनों में की जाती है) में लिक्विडिटी की स्थिति को प्रबंधित करने की संगठनात्मक क्षमता का संकेत है, जो मूल रूप से प्रॉडक्ट को बनाने हेतु मटीरियल खरीदने और उन्हें बेचकर नकद आय अर्जित करने के बीच की समयावधि है.

यह कार्यशील पूंजी चक्र, जितना छोटा होगा, कंपनी को अपनी ब्लॉक हुई राशि को मुक्त करने में उतनी ही आसानी होगी. साइकिल लंबी होने की स्थिति में पूंजी, आमतौर पर ऑपरेशनल साइकिल में रिटर्न अर्जित किए बिना फंस जाती है बिज़नेस हमेशा अल्पकालिक अवधि में तरलता बढ़ाने के लिए इस कार्यशील पूंजी चक्र को कम करने का प्रयास करते हैं.

कार्यशील पूंजी के लिए फॉर्मूला
कार्यशील पूंजी का फॉर्मूला नीचे दिया गया है:

कार्यशील पूंजी = वर्तमान एसेट - वर्तमान देनदारियां
कार्यशील पूंजी का अनुपात इस बात का संकेतक होता है कि क्या लघु अवधि के लोन को प्रबंधित करने के लिए किसी संगठन के पास लघु अवधि हेतु पर्याप्त एसेट है या नहीं. 1 से कम अनुपात नकारात्मक कार्यशील पूंजी का संकेतक है जबकि सकारात्मक/पर्याप्त कार्यशील पूंजी आमतौर पर 1.2 और 2.0 के बीच होती है. 2 से अधिक कोई भी वस्तु अक्सर अतिरिक्त एसेट की ओर संकेत करती है जिसे कंपनी द्वारा इन्वेस्ट नहीं किया जा रहा होता है और इसलिए वह छूटे हुए अवसर के रूप में समझा जाता है.

अगर मौजूदा एसेट मौजूदा लोन से ज़्यादा नहीं होता तो ऑर्गनाइज़ेशन को परेशानी हो सकती है. कार्यशील पूंजी किसी भी संगठन की दक्षता के बारे में भी बताती है. वह धनराशि जो मार्केट में, इन्वेंटरी में या अभी तक पेमेंट नहीं करने वाले कस्टमर के हाथ में फंसी है, देनदारों के सेटलमेंट के समय उसे गणना में शामिल करने योग्य नहीं माना जाएगा.

संदर्भ: कार्यशील पूंजी के लिए फॉर्मूला
 

फंडिंग वर्किंग कैपिटल

बजाज फ़िनसर्व वर्किंग कैपिटल लोन देता है नीचे दिए गए लाभों के साथ:
  • शून्य कोलैटरल आवश्यकताएं
  • रु. 20 लाख तक का लोन मात्र 24 घंटों में
  • फ्लेक्सी इंटरेस्ट-ओनली वह लोन जिसकी EMI में केवल ब्याज़ शामिल होता है, और मूल राशि अवधि के अंत में देय होती है
  • तेज़ प्रोसेसिंग के लिए घर से ही डॉक्यूमेंट कलेक्ट करने की सुविधा
  • तेज़ ऑनलाइन एप्लीकेशन और अप्रूवल प्रोसेस
  • न्यूनतम डॉक्यूमेंटेशन- केवल KYC डॉक्यूमेंट, बिज़नेस विंटेज, पासपोर्ट साइज़ फोटो और फाइनेंशियल डॉक्यूमेंट आवश्यक हैं.
  • SME और बिज़नेस के मालिकों के लिए आसानी से पूरे होने वाले पात्रता मापदंड

अन्य लोकप्रिय प्रॉडक्ट के बारे में जानें

Flexi Business Loan

फ्लेक्सी लोन कन्वर्ज़न

अपने मौजूदा लोन को बदलें | 56% तक कम EMI का भुगतान करें

अधिक जानें
मशीनरी लोन

मशीनरी लोन

मशीनरी को अपग्रेड करने के लिए लोन
रु. 32 लाख तक | EMI के रूप में केवल ब्याज़ का भुगतान करें

अधिक जानें
वर्किंग केपिटल लोन के बारे में लोगों की समझ

कार्यशील पूंजी

ऑपरेशनल खर्चों का संचालन करें
रु. 32 लाख तक | सुविधाजनक अवधि के विकल्प

अधिक जानें
महिलाओं के लिए बिज़नेस लोन के बारे में लोगों की समझ

महिलाओं के लिए बिज़नेस लोन

कस्टमाइज़्ड लोन प्राप्त करें
रु. 32 लाख तक | न्यूनतम डॉक्यूमेंटेशन

अधिक जानें