Home Loan tax Benefits
अपना प्रथम और अंतिम नाम दर्ज़ करें
कृपया पूरा नाम दर्ज़ करें
अपना 10 अंकीय मोबाइल नंबर दर्ज़ करें
मोबाइल नंबर का स्थान खाली नहीं छोड़ा जा सकता
अपना पिन कोड दर्ज करें
पिन कोड का स्थान खाली नहीं रह सकता
शून्य
शून्य

मैं बजाज फिनसर्व के प्रतिनिधि को इस एप्लीकेशन और दूसरे प्रोडक्ट/ सेवाओं के लिए कॉल/एसएमएस करने हेतु अधिकृत करता हूं. इस सहमति से डीएनसी/एनडीएनसी के लिए किया गया रजिस्ट्रेशन मान्य नहीं होगा.नियम और शर्तें

कृपया नियम व शर्तें स्वीकार करें
आपके मोबाइल नंबर पर एक OTP भेज दिया गया है

वन टाइम पासवर्ड दर्ज़ करें

0 सेकेंड
गलत मोबाइल नंबर दर्ज़ किया है?
शून्य
निवल मासिक सेलरी दर्ज़ करें
निवल मासिक सेलरी का स्थान खाली नहीं रह सकता
कृपया आवश्यक लोन राशि दर्ज़ करें
शून्य
शून्य
कृपया प्रॉपर्टी की लोकेशन चुनें
शून्य
जन्मतिथि चुनें
कृपया अपनी जन्म तिथि दर्ज़ करें
PAN कार्ड के विवरण दर्ज़ करें
PAN कार्ड का स्थान खाली नहीं रह सकता
लिस्ट में से नियोक्ता का नाम चुनें
व्यक्तिगत ईमेल एड्रेस दर्ज़ करें
पर्सनल ईमेल का स्थान खाली नहीं रह सकता
ऑफिसियल ईमेल एड्रेस दर्ज़ करें
आधिकारिक ईमेल ID का स्थान खाली नहीं रह सकता है
मौजूदा मासिक देनदारियों को दर्ज़ करें
शून्य
शून्य
शून्य
शून्य
शून्य
बिज़नेस विंटेज की वैल्यू चुनें
अपनी मासिक सेलरी दर्ज़ करें
निवल मासिक सेलरी का स्थान खाली नहीं रह सकता
शून्य
कृपया आवश्यक लोन राशि दर्ज़ करें
शून्य
कृपया बैलेंस ट्रांसफर के लिए बैंक चुनें
शून्य
शून्य
प्रॉपर्टी की लोकेशन चुनें
सालाना कारोबार दर्ज़ करें (18-19)
अपना वार्षिक टर्नओवर 17-18 दर्ज करें

धन्यवाद!

होम लोन पर इनकम टैक्स लाभ

2020 के आम बजट में होम लोन के ब्याज़ भुगतान पर इनकम टैक्स लाभ को रु. 1.5 लाख तक बढ़ाने का प्रस्ताव दिया गया है. इस प्रकार, उधारकर्ता रु. 3.5 लाख तक की कटौती का लाभ उठा सकते हैं.

यह कटौती सेक्शन 80EEA के तहत उपलब्ध है जिसमें होम लोन के ब्याज़ भुगतान पर रु. 1.5 लाख तक का इनकम टैक्स लाभ मिलता है. होम लोन पर ये टैक्स लाभ सेक्शन 24(b) के तहत रु. 2 लाख की मौजूदा छूट या उससे अधिक पर उपलब्ध हैं.

होम लोन की इन टैक्स छूट लाभ को सिर्फ रु. 45 लाख तक के स्टैंप वैल्यू वाले घर खरीदने पर ही क्लेम किया जा सकता है. घर का स्वामी 31 मार्च 2021. तक लोन पर प्राप्त होने वाले लाभों पर क्लेम कर सकता है. इस प्रकार, उधारकर्ता अधिकतम रु. 7 लाख की इनकम टैक्स कटौती के लिए क्लेम कर सकते हैं.

सेक्शन 80EEA के तहत इनकम टैक्स लाभ उन लोगों के लिए उपलब्ध हैं जो PMAY CLSS स्कीम के तहत होम लोन का लाभ उठा रहे हैं.

होम लोन पर टैक्स छूट प्रदान करने वाले इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन का विवरण:

IT अधिनियम में सेक्शन
इनकम टैक्स में होम लोन कटौती का प्रकार
अधिकतम कटौती योग्य राशि
सेक्शन 80 सी मूल पुनर्भुगतान राशि पर टैक्स कटौती रु. 1.5 लाख
सेक्शन 24 देय ब्याज़ राशि पर टैक्स कटौती रु. 2 लाख
सेक्शन 80EE पहली बार घर खरीदने वालों के लिए होम लोन की ब्याज़ दर पर अतिरिक्त टैक्स लाभ रु. 50,000

भारत सरकार उधारकर्ताओं को राहत देने के लिए इन लाभों को प्रदान करती है, जिससे यह और अधिक किफायती हो जाते हैं.

होम लोन के टैक्स सेक्शन का विस्तार से विवरण:

जब आप होम लोन लेते हैं, तो आपको EMI के रूप में मासिक भुगतान करना होता है, जिसमें दो प्रमुख घटक शामिल होते हैं - मूल राशि और देय ब्याज़. IT अधिनियम उधारकर्ताओं को व्यक्तिगत रूप से इन दोनों घटकों पर टैक्स लाभ का फायदा उठाने में मदद करता है.

1. सेक्शन 80C

  • मूल पुनर्भुगतान राशि पर अपनी टैक्सेबल आय से अधिकतम रु. 1.5 लाख तक का होम लोन टैक्स कटौती का क्लेम करें.
  • इसमें स्टांप शुल्क और रजिस्ट्रेशन शुल्क भी शामिल हो सकते हैं, लेकिन इनका केवल एक बार क्लेम किया जा सकता है.

2. सेक्शन 24

  • देय ब्याज़ राशि पर अधिकतम रु. 2 लाख तक की कटौती का लाभ उठाएं.
  • ये कटौती केवल उस प्रॉपर्टी पर अप्लाई होती है जिसका निर्माण 5 वर्षों के भीतर समाप्त हो गया है. अगर यह इस समय सीमा के भीतर खत्म नहीं होता है, तो आप केवल रु. 30,000 तक का क्लेम कर सकते हैं.

3. सेक्शन 80EE

  • पहली बार घर खरीदने वाले, हर फाइनेंशियल वर्ष में देय ब्याज़ पर रु. 50,000 का अतिरिक्त क्लेम कर सकते हैं.
  • होम लोन की राशि रु. 35 लाख से अधिक नहीं होनी चाहिए.
  • प्रॉपर्टी की कीमत रु. 50 लाख के भीतर होनी चाहिए.

ध्यान देने योग्य कुछ अन्य शर्तें:

  1. टैक्स में छूट केवल तब लागू होती है जब प्रॉपर्टी का निर्माण पूरा हो जाता है, या आप बना-बनाया घर खरीदते हैं.
  2. हर साल इन टैक्स लाभों का फायदा उठाएं और भारी मात्रा में सेविंग करें.
  3. अगर आप प्रॉपर्टी को अपने कब्जे के 5 साल के भीतर बेच देते हैं, तो क्लेम किए गए लाभ वापस हो जाएंगे और आपकी आय में जुड़ जाएंगे.
  4. आप प्रॉपर्टी खरीद सकते हैं और इसे किराए पर दे सकते हैं. इस मामले में, होम लोन पर टैक्स छूट के रूप में क्लेम करने के लिए कोई अधिकतम राशि लागू नहीं है.
  5. होम लोन का लाभ उठाते समय, अगर आप किसी अन्य घर में किराए पर रहना जारी रखते हैं, जहां वर्तमान में निवास करते हैं, तो आप HRA पर टैक्स लाभ का क्लेम भी कर सकते हैं.

ज़्वॉइंट होम लोन पर टैक्स कटौती क्या हैं?

ज़्वॉइंट होम लोन के मामले में, प्रत्येक उधारकर्ता व्यक्तिगत रूप से अपनी टैक्सेबल आय से ज़्वॉइंट होम लोन पर टैक्स लाभ के फायदे उठा सकते हैं. ब्याज़ के रूप में किए गए भुगतान पर अधिकतम रु. 2 लाख और मूल राशि पर रु. 1.5 लाख तक का क्लेम कर सकते हैं. परिवार का कोई भी मेंबर, दोस्त, पति या पत्नी बजाज फिनसर्व के ज़्वॉइंट होम लोन के सह-उधारकर्ता हो सकते हैं.
एकमात्र शर्त यह है कि हाउसिंग लोन के प्रत्येक एप्लीकेंट को उस आवासीय प्रॉपर्टी का सह-स्वामी होना जरूरी है.

क्या दूसरे घर पर होम लोन के टैक्स लाभ मिलते हैं?

अगर आप दूसरी प्रॉपर्टी खरीदने के लिए दूसरा होम लोन लेते हैं, तो टैक्स लाभ देय ब्याज़ पर लागू होते हैं. यहां, आप भुगतान की गई पूरी ब्याज़ राशि का क्लेम कर सकते हैं, क्योंकि यहां कोई सीमा लागू नहीं है.
इस समय, आप केवल एक प्रॉपर्टी को स्व-अधिकृत के रूप में क्लेम कर सकते हैं और अन्य प्रॉपर्टी पर कल्पित किराए के आधार पर टैक्स का भुगतान कर सकते हैं. भारत के नए यूनियन बजट के अनुसार, यह प्रस्ताव रखा गया है कि एक व्यक्ति अपने दूसरे घर को भी स्व-अधिकृत प्रॉपर्टी के रूप में क्लेम कर सकता है. इसका उद्देश्य उधारकर्ताओं को टैक्स के रूप में अधिक बचत करने में मदद करना है.

होम लोन पर टैक्स लाभ का क्लेम कैसे करें?

होम लोन पर टैक्स लाभ को क्लेम करने का प्रोसेस आसान और सरल है.

  1. सुनिश्चित करें कि आवासीय प्रॉपर्टी आपके नाम पर है. ज़्वॉइंट होम लोन के मामले में, सुनिश्चित करें कि आप घर के सह-स्वामी हैं.
  2. कुल राशि की गणना करें जिसका आप टैक्स कटौती के रूप में क्लेम कर सकते हैं.
  3. अपने नियोक्ता को होम लोन का ब्याज़ सर्टिफिकेट सौंपें ताकि वह TDS को समायोजित कर सके.
  4. ऐसा नहीं कर पाने पर आपको अपना IT रिटर्न दाखिल करना होगा.

स्व-व्यवसायी उधारकर्ताओं को ये डॉक्यूमेंट सबमिट करने की ज़रूरत नहीं होती है. उन्हें इन डॉक्यूमेंट को अपने पास रखना चाहिए, अगर भविष्य में कोई क्वेरी आती है, तो प्रदान कर सकते हैं.

होम लोन इनकम टैक्स में किस प्रकार मदद करता है?

होम लोन का पुनर्भुगतान इनकम टैक्स एक्ट 1961 के तहत टैक्‍स में छूट प्राप्‍त करने के लिए पात्र है. हर वर्ष होम लोन के लिए किए गए रु. 2 लाख तक के ब्याज़ भुगतान पर सेक्‍शन 24 के तहत टैक्स छूट प्राप्त होती है. सेक्शन 80C के तहत रु.1.5 तक मूल राशि के पुनर्भुगतान पर टैक्‍स में छूट प्राप्‍त होती है. सेक्‍शन 80EE और80EEA के तहत अतिरिक्त छूट उपलब्‍ध है.

होम लोन के लिए टैक्स कटौती की अधिकतम राशि क्या है?

इनकम टैक्स एक्ट 1961 के निर्दिष्ट सेक्शन के तहत होम लोन के लिए अधिकतम टैक्स कटौती नीचे दी गई है.

  • स्व-अधिकृत घर के लिए सेक्‍शन 24 के तहत अधिकतम रु. 2 लाख; गैर स्व-अधिकृत घर केे लिए कोई लिमिट नहीं है.
  • रु.1.5 तक लाख U/S 80C.
  • रु.1.5 तक लाख U/S 80EEA पहली बार घर खरीदने वालों के लिए.

होम लोन पर टैक्स छूट क्लेम करने के लिए कौन पात्र हैं?

कोई व्यक्ति जिसने खुद के उपयोग के लिए या किराए पर देने के लिए नया घर खरीदा है, वह इनकम टैक्स एक्ट 1961 के सेक्‍शन 24, 80C और 80EEA के तहत टैक्स छूट क्‍लेम कर सकता है. अगर आप घर के सह-मालिक हैं या सह-उधारकर्ता हैं, तो आप भी टैक्स लाभ क्लेम कर सकते हैं.

क्या मैं निर्माणाधीन प्रॉपर्टी पर होम लोन टैक्स लाभ क्‍लेम कर सकता/सकती हूं?

हां, आप सेक्‍शन 80C के तहत निर्माणाधीन प्रोपर्टी पर होम लोन टैक्स लाभ का क्‍लेम कर सकते हैं. ऐसी कटौती के लिए निम्नलिखित नियम अप्लाई होते हैं.

  • अगर निर्माण 5 वर्षों के भीतर पूरा हो जाता है, तो रु. 2 लाख की कटौती लागू होगी.
  • 5 वर्षों के भीतर निर्माण पूरा न होने पर केवल रु. 30,000 तक की राशि ही कटौती योग्य होगी.

क्या होम लोन प्रोटेक्शन इंश्योरेंस टैक्स कटौती योग्य है?

होम लोन प्रोटेक्शन इंश्योरेंस प्लान के लिए भुगतान किए गए प्रीमियम पर इनकम टैक्स एक्ट 1961 के सेक्शन 80C के तहत टैक्स कटौती का लाभ मिलेगा. इसके लिए पुनर्भुगतान उधारकर्ता द्वारा किया गया हो. विशिष्ट परिस्थितियों में, जहां लेंडर ऐसे इंश्योरेंस प्लान को फाइनेंस करता है और उधारकर्ता EMI के माध्यम से लोन का पुनर्भुगतान करता है, कटौती की अनुमति नहीं होती है.

क्या टॉप-अप होम लोन टैक्स कटौती के लिए पात्र है?

टॉप-अप होम लोन पर सेक्‍शन 24(b) और 80C के तहत टैक्स कटौती के लिए केवल तभी पात्र होता है जब इसका इस्‍तेमाल निम्‍नलिखित के लिए किया जाता है –

  • आवासीय प्रॉपर्टी केे अधिग्रहण/निर्माण के लिए.
  • ऐसी प्रॉपर्टी केे नवीनीकरण या मरम्मत के लिए.

ऐसे क्लेम के साथ मान्‍य रसीद और डॉक्यूमेंट प्रस्‍‍तुत किए जाने चाहिए.

होम लोन पर टैक्स लाभ की गणना कैसे कर सकते हैं?

बजाज फिनसर्व के इनकम टैक्स कैलकुलेटर का उपयोग करें और बिना किसी परेशानी के टैक्स लाभ की गणना करें. यह एक ऑनलाइन टूल है जो होम लोन के कुछ विवरण के आधार पर राशि की तुरंत गणना करता है. उनमें से कुछ में होम लोन राशि, ब्याज़ दर, मौजूदा टैक्स कटौती, सकल वार्षिक सेलरी आदि शामिल हैं.
बस आवश्यक विवरण दर्ज़ करें और उन टैक्स लाभों को चेक करें जिनका आप लाभ उठा सकते हैं.
भारत में, प्रॉपर्टी खरीदना एक महत्वपूर्ण इन्वेस्टमेंट निर्णय माना जाता है. इसलिए, बजाज फिनसर्व से संपर्क करें और अपने सपनों के घर को खरीदने के लिए अन्य लाभों के साथ सबसे अधिक प्रतिस्पर्धी होम लोन की ब्याज़ दर का लाभ उठाएं.