MSME लोन क्या हैं?

2 मिनट का आर्टिकल

एमएसएमई लोन कई फाइनेंशियल संस्थानों द्वारा ऑफर किए जाने वाले अनसेक्योर्ड लोन हैं ताकि उद्यमियों को विभिन्न बिज़नेस संबंधी खर्चों को पूरा करने में मदद मिल सके. भारत सरकार और आरबीआई के अनुसार, ये लोन कुछ बिज़नेस एंटरप्राइज़ के लिए हैं जो इन श्रेणियों में आते हैं:

कंपनी (मैन्युफैक्चरिंग या सर्विस प्रोवाइडर)

माइक्रो

स्मॉल

मध्यम

इन्वेस्टमेंट सीमा

रु. 1 करोड़ से कम

रु. 10 करोड़ से कम

रु. 20 करोड़ से कम

टर्नओवर सीमा

रु. 5 करोड़ से कम

रु. 50 करोड़ से कम

रु. 100 करोड़ से कम


एमएसएमई लोन के अलावा, फाइनेंशियल संस्थान भी कई सरकारी स्कीम के तहत इन लोन प्रदान करते हैं, जैसे:

  • सूक्ष्म एवं लघु उद्यमों के लिए क्रेडिट गारंटी फंड ट्रस्ट (CGTMSE)
  • प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी)
  • माइक्रो यूनिट डेवलपमेंट एंड रीफाइनेंस एजेंसी (मुद्रा लोन)

एमएसएमई लोन विशेष पात्रता मानदंडों के साथ आते हैं और इनका लाभ प्राप्त करने के लिए बिज़नेस के मालिकों को सभी शर्तों को पूरा करना होता है. बजाज फिनसर्व, उद्यमों को अपनी तुरंत फंडिंग की आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद करने के लिए रु. 50 लाख* (*इंश्योरेंस प्रीमियम, वीएएस शुल्क, डॉक्यूमेंटेशन शुल्क, फ्लेक्सी फीस और प्रोसेसिंग फीस सहित) तक के एमएसएमई लोन प्रदान करता है. यह लोन प्रोसेसिंग को आसान बनाने के लिए, न्यूनतम पात्रता और डॉक्यूमेंटेशन की आवश्यकताओं के साथ आता है. एमएसएमई लोन, किफायती ब्याज दरों पर उपलब्ध हैं और इनका सुविधाजनक अवधि में पुनर्भुगतान किया जा सकता है. बजाज फिनसर्व के साथ, बिज़नेस के मालिक मामूली शुल्क पर अवधि समाप्त होने से पहले, लोन अकाउंट को पार्ट-प्री-पे या फोरक्लोज़ करने का विकल्प चुन सकते हैं.

अधिक पढ़ें कम पढ़ें