पट्टा चिट्टा क्या है?

2 मिनट का आर्टिकल

पट्टा चिट्टा तमिलनाडु राज्य सरकार द्वारा जारी किया जाने वाला लैंड सर्टिफिकेट है. इसमें प्लॉट के सभी आवश्यक विवरण शामिल होते हैं और प्रॉपर्टी की बिक्री और सरकारी अधिग्रहण के दौरान यह महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट के रूप में कार्य करता है. यह स्वामित्व विवाद के दौरान प्रमाण के रूप में भी कार्य करता है और विवाद को जल्द से जल्द हल करने में मदद करता है.

आमतौर पर, पट्टा चिट्टा संबंधित ज़िले के तहसीलदार द्वारा मेन्टेन किया जाता है. भूस्वामी के रूप में, आप इस डॉक्यूमेंट को ऑनलाइन एक्सेस कर सकते हैं या तालुका के ऑफिस से इसे प्राप्त कर सकते हैं. ध्यान रखें कि यह सर्टिफिकेट प्लॉट के लिए जारी किया जाता है, न कि अपार्टमेंट के लिए जारी किया जाता है.

इस विषय के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए पढ़ें.

पट्टा क्या है?

यह एक कानूनी डॉक्यूमेंट है, जिसमें उस भूस्वामी के विवरण शामिल होते हैं, जिसके नाम से प्रॉपर्टी रजिस्टर्ड है. इसमें निम्न विवरण भी शामिल होते हैं:

  • तमिलनाडु पट्टा का साइज़
  • सब-डिविज़न
  • सर्वे नंबर
  • भूस्वामी के जिले, तालुक और गांव का नाम
  • भूमि का क्षेत्र
  • भूस्वामी के टैक्स का विवरण
  • शुष्क भूमि का विवरण
  • आर्द्रभूमि का विवरण

यह सरकारी अधिकारी द्वारा जारी किया जाता है और इसका रखरखाव तहसीलदार द्वारा किया जाता है. इस कानूनी डॉक्यूमेंट को अधिकारों के रिकॉर्ड के रूप में भी जाना जाता है. किसी विवाद के मामले में, यह साक्ष्य के रूप में कार्य करता है.

विशेष रूप से, इस डॉक्यूमेंट को बार-बार रिन्यू करने की आवश्यकता नहीं होती है. आमतौर पर, प्रॉपर्टी के ट्रांसफर या बिक्री के दौरान या वसीयत लागू करते समय इसे रिन्यू कराना होता है.

इन तरीकों से प्राप्त प्रॉपर्टी के लिए यह डॉक्यूमेंट महत्वपूर्ण साबित होता है:

  • उत्तराधिकार के परिणामस्वरूप प्राप्त भूमि
  • 'प्रॉपर्टी ट्रांसफर एक्ट' के तहत प्राप्त भूमि'
  • राज्य न्यायालय और न्यायाधिकरण के आदेशों के अनुसार अधिग्रहित भूमि

ऑनलाइन पट्टा एक महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट के रूप में कार्य करता है, जो कानूनी रूप से प्रॉपर्टी के स्वामित्व की जानकारी देता है.

चिट्टा क्या है?

चिट्टा एक अनिवार्य भू-राजस्व डॉक्यूमेंट है, जिसका रखरखाव तालुका ऑफिस और ग्राम प्रशासन द्वारा किया जाता है. यह प्लॉट के मालिकाना हक, साइज़, क्षेत्र जैसे महत्वपूर्ण विवरण के बारे में जानकारी प्रदान करता है. यह पंजई (शुष्क भूमि) और नंजई (आर्द्रभूमि) के बीच, विशेष भूमि वर्गीकरण भी प्रदान करता है.

2015 में, तमिलनाडु सरकार ने चिट्टा को अलग से जारी करना बंद कर दिया और पट्टा और चिट्टा को मिलाकर एक डॉक्यूमेंट बना दिया गया.

ऑनलाइन पट्टा एप्लीकेशन के लिए आवश्यक डॉक्यूमेंट

पट्टा चिट्टा के लिए ऑनलाइन अप्लाई करते समय भूस्वामी को ये डॉक्यूमेंट सबमिट करने होंगे:

  • सेल डीड
  • स्वामित्व का साक्ष्य
  • रीइम्बर्स टैक्स रसीद
  • मालिक के यूटिलिटी बिल
  • एनकम्ब्रेंस (ऋणभार) सर्टिफिकेट

इन डॉक्यूमेंट को तैयार रखने के अलावा, आपको भूमि के रिकॉर्ड को ऑनलाइन देखने के लिए अपनाए जाने वाले चरणों की भी जानकारी होनी चाहिए.

पट्टा चिट्टा तमिलनाडु भूमि रिकॉर्ड को देखने का प्रोसेस

पट्टा चिट्टा के ऑनलाइन एप्लीकेशन को आसान बनाने के लिए, सरकार ने ऑनलाइन प्रोसेस उपलब्ध कराया है. इन चरणों का पालन करके आप बिना किसी परेशानी के अप्लाई कर सकते हैं:

चरण 1: पट्टा चिट्टा तमिलनाडु के आधिकारिक पोर्टल पर जाएं. अंग्रेजी या तमिल के बीच, अपनी पसंदीदा भाषा चुनें.

चरण 2: ऊपर 'पट्टा कॉपी/ए-रजिस्टर एक्सट्रैक्ट देखें' पर जाएं. 'पट्टा और एफएमबी/ चिट्टा/ टीएसएलआर एक्सट्रैक्ट देखें' चुनें.

चरण 3: उपलब्ध ड्रॉप-डाउन मेनू से जिला चुनें. क्षेत्र में 'क्षेत्र प्रकार' के रूप में चिह्नित 'शहरी' या 'ग्रामीण' विकल्प पर क्लिक करें'. 'सबमिट करें' बटन पर क्लिक करें.

चरण 4: मौजूद ड्रॉप-डाउन बॉक्स से, 'गांव' और 'तालुक' चुनें.

चरण 5: 'पट्टा/चिट्टा देखने का माध्यम चुनें' फील्ड से 'सर्वे नंबर' या 'पट्टा नंबर' चुनें. अगर आप 'सर्वे नंबर' विकल्प चुनते हैं, तो सर्वे और सबडिविज़न नंबर जैसे विवरण दर्ज करने के लिए आगे बढ़ें. वैकल्पिक रूप से, अगर आप 'पट्टा नंबर' चुनते हैं, तो जारी रखने के लिए आवश्यक जानकारी दर्ज करें.

चरण 6: प्रमाणीकरण वैल्यू दर्ज करें और फिर 'सबमिट करें' बटन पर क्लिक करें.

प्रॉपर्टी से संबंधित इन आवश्यक विवरण को दर्ज करने के बाद, ऑनलाइन सर्टिफिकेट जारी किया जाता है. ऐसे सर्टिफिकेट में निर्माण का प्रकार, भूमि का प्रकार, नगरपालिका द्वारा दिया गया डोर नंबर, स्थान, सर्वे नंबर और अन्य जानकारी शामिल होती हैं.

पट्टा चिट्टा ऑनलाइन स्टेटस कैसे चेक करें?

डिजिटल इंडिया प्रोग्राम के हिस्से के रूप में, राज्य अपने लैंड रिकॉर्ड डिजिटल बदल रहे हैं. एप्लीकेशन जमा करने के बाद, आप इन आसान चरणों का पालन करके पट्टा चिट्टा स्टेटस को ऑनलाइन देख सकते हैं:

चरण 1: तमिलनाडु की ऑफिशियल ई-डिस्ट्रिक्ट वेबसाइट पर जाएं.

चरण 2: आवश्यक क्रेडेंशियल दर्ज करके पोर्टल में लॉग-इन करें.

चरण 3: एप्लीकेशन आईडी, कैप्चा वैल्यू दर्ज करें, और 'स्टेटस पाएं' बटन पर क्लिक करें.

चरण 4: पट्टा चिट्टा का स्टेटस स्क्रीन पर दिखाया जाएगा.

तमिलनाडु के पट्टा चिट्टा भूमि रिकॉर्ड स्टेटस को जानने के बाद, आप अपने डॉक्यूमेंट को सत्यापित करने के लिए आगे बढ़ सकते हैं. आप पट्टा चिट्टा डाउनलोड करने का विकल्प भी चुन सकते हैं और सुविधानुसार उसकी PDF कॉपी भी एक्सेस कर सकते हैं.

पट्टा चिट्टा सर्टिफिकेट को सत्यापित करने के चरण

भूस्वामी, ऑनलाइन जारी किए गए पट्टा चिट्टा सर्टिफिकेट की वैधता भी देख सकते हैं. इसके लिए आपको अपना रेफरेंस नंबर दर्ज करना होगा. इसके बाद इन आसान चरणों का पालन करके सर्टिफिकेट को सत्यापित करने के लिए आगे बढ़ सकते हैं

चरण 1: तमिलनाडु पट्टा चिट्टा साइट पर जाएं और विवरण दर्ज करके अपने पोर्टल में लॉग-इन करें.

चरण 2: 'वेब द्वारा जारी किए गए पट्टा/ए-रजिस्टर एक्सट्रैक्ट' टैब पर जाएं.

चरण 3: 'पट्टा वेरिफाई करें' विकल्प चुनें.

चरण 4: रेफरेंस नंबर दर्ज करें और फिर 'सबमिट करें' बटन पर क्लिक करें.

इन चरणों को पूरा करने के बाद, पट्टा सत्यापन संबंधी विवरण जनरेट हो जाएगा.

पट्टा चिट्टा तमिलनाडु का शुल्क

भूमि के मालिक रु. 100 की मामूली लागत पर अपना पट्टा चिट्टा ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं. आप शुल्क का भुगतान करने के लिए, उपलब्ध किसी भी भुगतान माध्यम का उपयोग कर सकते हैं.

पट्टा पर नाम बदलने के चरण

भू-स्वामी पट्टा चिट्टा पर अपना नाम बदल सकते हैं. अन्य प्रोसेस के विपरीत, भूस्वामी को इसके लिए ऑफलाइन चरणों को पूरा करना होगा. प्रोसेस शुरू करने के लिए, इन चरणों का पालन करें:

चरण 1: संबंधित ग्राम प्रशासन कार्यालय या तालुक पर जाएं.

चरण 2: पट्टा ट्रांसफर फॉर्म फाइल करें.

चरण 3: इसे अन्य आवश्यक डॉक्यूमेंट के साथ सबमिट करें.

आमतौर पर, एक नया पट्टा 15 से 20 दिनों के भीतर जारी किया जाता है.

तमिलनाडु सरकार किसी भी इकोनॉमिक डेवलपमेंट स्कीम के लिए, भूस्वामी को पट्टा चिट्टा सर्टिफिकेट सबमिट करने के लिए कह सकती है. इसलिए, आपको इस प्रोसेस को सुव्यवस्थित करने के लिए इसे संभाल कर रखना चाहिए.

अपने सपनों के घर के करीब आसान बनाने के लिए, 30 वर्ष तक की सुविधाजनक अवधि के साथ कम होम लोन ब्याज़ दर पर रु. 5 करोड़ तक के होम लोन के लिए बजाज फिनसर्व के पास अप्लाई करें. तुरंत मंज़ूरी के साथ न्यूनतम डॉक्यूमेंटेशन की आवश्यकता होगी.

अधिक पढ़ें कम पढ़ें