दिल्ली के मौजूदा सर्कल रेट क्या हैं?

सर्कल रेट एक आवश्यक कारक है और इस पर खरीद या बिक्री के दौरान प्रॉपर्टी की वैल्यू निर्धारित करते समय विचार किया जाता है. मॉरगेज़ लोन के लिए प्रॉपर्टी की वैल्यू का अनुमान लगाते समय फाइनेंशियल संस्थान भी इस कारक को ध्यान में रखते हैं. दिल्ली में प्रॉपर्टी लोन की हमेशा अधिक मांग रहती है और इसलिए दिल्ली में सर्कल रेट पर आवश्यक रूप से विचार किया जाता है. आइए, शहर में सर्कल रेट से संबंधित सभी विवरण देखें.

सर्कल रेट क्या है?

सरकार एक निर्धारित क्षेत्र में प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन से संबंधित ट्रांज़ैक्शन के लिए न्यूनतम रेट अधिसूचित करती है, जिसे सर्कल रेट कहते हैं. यह दिल्ली में सब रजिस्ट्रार या रजिस्ट्रार ऑफिस के माध्यम से अधिसूचित किया जाता है.


इस प्रकार स्टाम्प वैल्यू को दिल्ली के किसी भी क्षेत्र और प्रॉपर्टी के लिए अनुमानित ट्रांज़ैक्शन वैल्यू के लिए अधिसूचित सर्कल रेट के लिए अधिकतम के रूप में निर्धारित किया जाता है.


दिल्ली में प्रॉपर्टी पर लोन लेने की चाहत रखने वाले लोगों को मॉरगेज़ किए जाने वाली प्रॉपर्टी के लिए निर्धारित सर्कल रेट का ध्यान रखना होगा और उसके अनुसार लोन राशि के लिए अप्लाई करना होगा.

आवासीय प्लॉट्स के लिए दिल्ली में सर्कल रेट

नई दिल्ली नगर निगम (NDMC) के तहत आने वाले प्रशासनिक क्षेत्र के अंदर रेजिडेंशियल प्लॉट्स को A से H कैटेगरी में विभाजित किया गया है. शहर में सर्कल रेट्स कैटेगरी के अनुसार अलग-अलग होती हैं. नीचे के चार्ट में दिल्ली के रेजिडेंशियल प्लॉट्स की सभी कैटेगरी के लिए निर्धारित सर्कल रेट की जानकारी है.

कैटेगरी निर्माण की लागत/स्क्वेयर मीटर (रुपये में) ज़मीन की कीमतें/ स्क्वेयर मीटर (रु. में)
A 21,960 7,74,000
B 17,400 2,46,000
C 13,920 1,60,000
D 11,160 1,28,000
E 9,360 70,080
F 8,220 56,640
G 6,960 46,200
H 3,480 23,280

फ्लैट्स के लिए दिल्ली में सर्कल रेट

रेजिडेंशियल प्लॉट्स के सर्कल रेट्स के समान, दिल्ली सरकार पूरे शहर में फ्लैट के लिए रेट्स को अलग से अधिसूचित करती है. ये रेट्स कवर और टाइप के आधार पर पांच कैटेगरी में विभाजित किए जाते हैं. दिल्ली में फ्लैट्स के लिए सर्कल रेट्स देखें.

फ्लैट्स का एरिया प्राइवेट बिल्डर्स फ्लैट्स के लिए रेट्स (रु. में) DDA/सोसाइटी फ्लैट के लिए रेट्स (रु. में)
मल्टी-स्टोरीड अपार्टमेंट्स 1,10,000 87,840
100 वर्ग मीटर से ऊपर 95,250 76,200
50 और 100 वर्ग मीटर के बीच 79,488 66,240
30 और 50 वर्ग मीटर के बीच 62,652 54,480
30 वर्ग मीटर के भीतर 55,440 50,400

दिल्ली में सर्कल रेट्स किन कारकों पर निर्भर करता है?

दिल्ली में सर्कल रेट इन कारकों के आधार पर विभिन्न क्षेत्रों के लिए भिन्न-भिन्न होती है –

  • उपलब्ध सुविधाएं.
  • एरिया की मार्केट वैल्यू.
  • अन्य सुविधाओं की उपस्थिति.

इन कारकों के आधार पर, क्षेत्रों को A से H के बीच आठ कैटेगरी में विभाजित किया गया है, जैसा कि ऊपर बताया गया है. अधिक वैल्यू और पॉश सुविधाओं वाले क्षेत्र A कैटेगरी के तहत आते हैं, लेकिन यह निम्न कैटेगरी के लिए कम होता है, जिसमें H कैटेगरी के तहत सबसे कम वैल्यू वाले क्षेत्र आते हैं.

 

फ्लैट्स के लिए, सर्कल रेट्स बिल्डर्स के आधार पर अलग-अलग होती हैं, जैसे –

  • प्राइवेट बिल्डर्स द्वारा निर्मित फ्लैट्स.
  • DDA या सोसाइटी फ्लैट्स.

इस प्रकार प्रॉपर्टी लोन की एप्लीकेशन का आकलन या खरीद/बिक्री के लिए वैल्यूएशन करते समय, मॉरगेज़ किए जाने वाले प्रॉपर्टी के वैल्यूएशन को निर्धारित करने के लिए इन पर विचार किया जाता है.

सर्कल रेट का कैलकुलेशन कैसे करें?

निम्न चरणों द्वारा दिल्ली में सर्कल रेट कैलकुलेट करें.

चरण 1 – यह निर्धारित करें कि प्रॉपर्टी का उपयोग रेजिडेंशियल उद्देश्य के लिए किया जाएगा या कमर्शियल उद्देश्य के लिए, क्योंकि दिल्ली सरकार द्वारा अधिसूचित सर्कल रेट्स रेजिडेंशियल के लिए अधिक हैं और कमर्शियल के लिए कम है.

चरण 2 – प्रॉपर्टी का प्रकार क्या हैः क्या वह फ्लैट, अपार्टमेंट, किसी व्यक्ति का अपना घर या कोई प्लॉट है. एक ही क्षेत्र में विभिन्न प्रॉपर्टी के प्रकार अनुसार इसकी वैल्यू अलग-अलग होती है.

चरण 3 – प्रॉपर्टी के वैल्यूएशन के बारे में जानने के लिए 'एज मल्टीप्लायर' का उपयोग करें और उसके अनुसार सर्कल रेट निर्धारित करें.

अब, दिल्ली में प्रॉपर्टी की सर्कल रेट्स को प्रभावित करने वाले आयु संबंधी कारक देखें.

दिल्ली में सर्कल रेट – आयु संबंधी कारक

दिल्ली में सर्कल रेट संबंधी निर्णय लेने के लिए प्रॉपर्टी वैल्यूएशन, निर्माण के वर्ष के आधार पर आयु कारक से प्रभावित होता है. मल्टीप्लायर 0.5 और 1.0 के बीच अलग-अलग होते हैं और क्रमशः 1960 और 2000 के बाद बने प्रॉपर्टी के लिए लागू होते हैं.

नीचे दिए गए टेबल से निर्माण के वर्ष के अनुसार एज मल्टीप्लायर (आयु गुणक) की जानकारी मिलती है.

लागू मल्टीप्लायर रेट आयु कारक से प्रभावित (वर्षों में)
1 2000 के बाद
0.9 1990 और 2000 के बीच में
0.8 1980 और 1989 के बीच में
0.7 1970 और 1979 के बीच में
0.6 1960 और 1969 के बीच में
0.5 1960 से पहले

दिल्ली में प्रॉपर्टी रजिस्टर करने के लिए स्टाम्प ड्यूटी रेट - विवरण

दिल्ली सरकार द्वारा अधिसूचित सर्कल रेट चार्ट के आधार पर, स्टाम्प ड्यूटी का कैलकुलेशन दो वैल्यू, मूल्यांकन की गई वैल्यू और घोषित एग्रीमेंट वैल्यू के उच्चतम पर की जाती है. स्टाम्प ड्यूटी की प्रतिशत रेट, मालिक के आधार पर अलग-अलग होती है. नीचे दी गई रेट्स देखें.

दिल्ली में मौजूदा स्टाम्प ड्यूटी के रेट्स

दिल्ली में मौजूद स्टाम्प ड्यूटी के लिए लागू रेट्स इस प्रकार हैं –

  • महिलाओं के लिए – 4%
  • पुरुषों और महिलाओं की संयुक्त स्वामित्व के लिए – 5%
  • पुरुषों के लिए – 6%

दिल्ली में प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन के लिए रजिस्ट्री शुल्क

रजिस्ट्रेशन शुल्क, प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन के दौरान स्टाम्प ड्यूटी के ऊपर लगाया जाने वाला अतिरिक्त शुल्क है. रजिस्ट्रार ऑफिस से संबंधित खर्चों को पूरा करने के लिए आवश्यक खर्चों को शुल्क में शामिल करता है.

 

दिल्ली में प्रॉपर्टी के लिए लागू रजिस्ट्री शुल्क वैल्यूएशन का 1% है. इसके अलावा, रु. 100 का पेस्टिंग शुल्क भी लागू होता है.

दिल्ली में स्टाम्प ड्यूटी भुगतान के लिए सर्कल रेट का उपयोग करके, प्रॉपर्टी की वैल्यू की गणना कैसे करें?

दिल्ली में सर्कल रेट का उपयोग करके प्रॉपर्टी वैल्यू का कैलकुलेशन करने के लिए निम्न चरणों का पालन करें. प्रॉपर्टी की खरीद के दौरान इस वैल्यूएशन पर स्टाम्प ड्यूटी का भुगतान किया जाता है.

1. प्रॉपर्टी का बिल्ट-अप एरिया और प्रॉपर्टी की आयु, फ्लोर एरिया, उपलब्ध सुविधाएं आदि जैसे अन्य कारक.

2. प्रॉपर्टी का प्रकार चुनें, जैसे प्लॉट्स, अपार्टमेंट, फ्लैट्स आदि.

3. इसके बाद, दिल्ली रजिस्ट्रार की ऑफिशियल वेबसाइट में वर्गीकृत प्रॉपर्टी का क्षेत्र/लोकेशन चुनें.

4. दिल्ली में लागू सर्कल रेट के अनुसार निम्न कैलकुलेशन के माध्यम से न्यूनतम असेसमेंट वैल्यू जानें.

  1. इंडिपेंडेंट प्लॉट पर बिल्डर फ्लोर्स के लिए –

    • प्लॉट एरिया के आनुपातिक हिस्से (वर्ग मीटर में) के साथ क्षेत्र के लिए लागू सर्कल रेट (रु./वर्ग मीटर में) को गुणा करें.

    • निर्मित क्षेत्र (वर्ग मीटर में) के साथ न्यूनतम निर्माण लागत (रु./ वर्ग मीटर में) को गुणा करें. अब, लागू आयु कारक के साथ प्रॉडक्ट को गुणा करें.

  2. रेजिडेंशियल अपार्टमेंट्स (सोसाइटी/DDA/बिल्डर फ्लैट्स सहित) के लिए –

    • 4-स्टोरीड बिल्डिंग में फ्लैट्स का कैलकुलेशन - फ्लैट के बिल्ट-अप एरिया (वर्ग मीटर में) के साथ फ्लैट के लिए लागू सर्कल रेट (रु./वर्ग मीटर में) को गुणा करें.

    • मल्टी-स्टोरीड फ्लैट्स का कैलकुलेशन - फ्लैट के बिल्ट-अप एरिया (वर्ग मीटर में) के साथ मल्टी-स्टोरीड फ्लैट्स के लिए लागू सर्कल रेट्स (रु./वर्ग मीटर में) को गुणा करें.

  3. प्लॉट पर बने घर के लिए –

    • प्लाट एरिया (वर्ग मीटर में) के साथ संबंधित इलाके में प्लॉट के लिए लागू सर्कल रेट (रु./वर्ग मीटर में) को गुणा करें.

    • घर के बिल्ट-अप एरिया (वर्ग मीटर में) के साथ न्यूनतम निर्माण लागत (रु./वर्ग मीटर में) को गुणा करें. निर्माण के लिए लागू आयु कारक के साथ प्रॉडक्ट को गुणा करें.

  4. प्लॉट्स के लिए –

    • प्लाट एरिया (वर्ग मीटर में) के साथ संबंधित इलाके में प्लॉट के लिए लागू सर्कल रेट (रु./वर्ग मीटर में) को गुणा करें.

अब, दिल्ली में सर्कल रेट निर्धारित करने के लिए आठ कैटेगरी के तहत आने वाले क्षेत्रों को देखें.

दिल्ली में क्षेत्रों का कैटेगरी के अनुसार वर्गीकरण

कैटेगरी कवर किए गए क्षेत्र
कैटेगरी A फ्रेंड्स कॉलोनी (ईस्ट व वेस्ट), कालिंदी कॉलोनी, महारानी बाग, गोल्फ लिंक्स, लोदी रोड इंडस्ट्रियल एरिया, नेहरू प्लेस, पंचशिला पार्क, शांति निकेतन, वसंत विहार, न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी, राजेंद्र प्लेस, सुंदर नगर, आनंद निकेतन, भीकाजी कामा प्लेस, बसंत लोक DDA कॉम्प्लेक्स, फ्रेंड्स कॉलोनी
कैटेगरी B सर्वप्रिय विहार, आनंद लोक, डिफेंस कॉलोनी, सर्वोदय एन्क्लेव, एंड्रूज गंज, ग्रेटर कैलाश (I, II, III और IV), ग्रीन पार्क, हमदर्द नगर, मौरिस नगर, नीति बाग, निजामुद्दीन ईस्ट, पंचशील पार्क, गुलमोहर पार्क, हौज खास, मुनरिका विहार, नेहरू एन्क्लेव, पंपोश एन्क्लेव, सफदरजंग एन्क्लेव
कैटेगरी C अलकनंदा, सिविल लाइन्स, ईस्ट पटेल नगर, कैलाश हिल, चित्तरंजन पार्क, ईस्ट ऑफ कैलाश, झंडेवालान एरिया, कालकाजी, मालवीय नगर, लाजपत नगर (I, II, III और IV), मुनिरका, पंजाबी बाग, वसंत कुंज, मस्जिद मोठ, निजामुद्दीन वेस्ट, सोम विहार, पंचशील एक्सटेंशन.
कैटेगरी D जसोला विहार, कीर्ति नगर, राजेंद्र नगर (नया और पुराना), करोल बाग, मयूर विहार, राजौरी गार्डन, दरियागंज, ईस्ट एंड अपार्टमेंट, हडसन लेन, जनकपुरी, जंगपुरा एक्सटेंशन, आनंद विहार, द्वारका, गगन विहार, इंद्रप्रस्थ एक्सटेंशन, जंगपुरा ए
कैटेगरी E चांदनी चौक, गगन विहार एक्सटेंशन, जामा मस्जिद, खिड़की एक्सटेंशन, महावीर नगर, पहाड़ गंज, रोहिणी, ईस्ट एंड एन्क्लेव, हौज़ खास, कश्मीरी गेट, मधुबन एन्क्लेव, मोती नगर, पांडव नगर, सराय रोहिल्ला
कैटेगरी F मजनू का टीला, नंद नगरी, ज़ाकिर नगर ओखला, अर्जुन नगर, दिलशाद कॉलोनी, BR आंबेडकर कॉलोनी, गोविंदपुरी, जंगपुरा बी, मुखर्जी पार्क एक्सटेंशन, उत्तम नगर, आनंद प्रभात, दया बस्ती, दिलशाद गार्डन, गणेश नगर, हरि नगर, मधु विहार
कैटेगरी G आंबेडकर नगर जहांगीरपुरी, अंबर विहार, दक्षिणपुरी, हरि नगर एक्सटेंशन, टैगोर गार्डन, आंबेडकर नगर ईस्ट दिल्ली, डबरी एक्सटेंशन, दशरथ पुरी, विवेक विहार फेज I
कैटेगरी H सुल्तानपुर मजरा

सामान्य प्रश्न

दिल्ली में सर्कल रेट क्या हैं?

सर्कल रेट एक ऐसा कारक है जिस पर खरीद या बिक्री के दौरान प्रॉपर्टी वैल्यू निर्धारित करते समय विचार किया जाता है. दिल्ली में नए सर्कल रेट के अनुसार, आवासीय प्लॉट की सबसे कम दर ₹ 18,624 है.

दिल्ली में सर्कल रेट के शुल्क क्या हैं?

दिल्ली में सर्कल रेट के लागू रजिस्ट्री शुल्क ट्रांज़ैक्शन वैल्यू का 1% है. इसके अलावा, रु. 100 का पेस्टिंग शुल्क भी लागू होता है.