एमएसएमई डेटाबैंक क्या है?

2 मिनट का आर्टिकल

11 अगस्त 2016 को शुरू किया गया एमएसएमई डेटाबैंक, देश में सभी ऑपरेटिंग माइक्रो, स्मॉल और मीडियम एंटरप्राइजेज़ (एमएसएमई) का एक कॉम्प्रिहेंसिव डेटाबेस है. इस डेटाबेस में विलयन और अधिग्रहण, प्रौद्योगिकियों के हस्तांतरण और व्यवसाय के भीतर आयात-निर्यात मशीनरी से संबंधित सभी जानकारी शामिल है.

यह जानकारी सरकार को एमएसएमई के लिए निर्देशित विभिन्न लोन स्कीम और पॉलिसी की निगरानी करने में सक्षम बनाएगी, जैसे कि केंद्रीय बजट 2021 में आबंटित ₹15,700 करोड़, सीधे लघु व्यवसाय मालिकों को.

देश के सभी एमएसएमई को एमएसएमई डेटाबैंक रजिस्ट्रेशन के माध्यम से सरकार को अपने बिज़नेस के बारे में जानकारी प्रदान करनी चाहिए.

उद्योग आधार मेमोरेंडम एक ही पेज का रजिस्ट्रेशन फॉर्म है जो कंपनियां अपनी बिज़नेस आइडेंटिटी के अस्तित्व को स्व-प्रमाणित करने के लिए उपयोग कर सकती हैं. उद्योग आधार नंबर (यूएएन) होने पर एमएसएमई रजिस्ट्रेशन से जुड़ी प्रक्रियात्मक परेशानी से बिज़नेस की बचत की जाती है.

बिज़नेस के मालिकों को अपने रजिस्टर्ड ईमेल एड्रेस पर अपना विशिष्ट 12-अंकों का यूएएन प्राप्त करने के लिए आवश्यक बिज़नेस और फाइनेंशियल विवरण और अन्य संबंधित जानकारी जमा करनी होगी.

एमएसएमई डेटाबैंक पात्रता मानदंड

एमएसएमई विकास (जानकारी प्रदान करना) नियम, 2009 के अनुसार, सभी सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों को भारत सरकार को अपने व्यवसाय का विवरण प्रदान करना अनिवार्य है.

एमएसएमई डेटाबैंक रजिस्ट्रेशन के लिए पात्र होने के लिए, बिज़नेस को अनिवार्य रूप से दो आसान पूर्व आवश्यकताओं का पालन करना होगा, अर्थात यूएएन और पैन.

पूर्वोत्तर क्षेत्रों के लिए, यूएएन के साथ रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर सबमिट करना अनिवार्य है.

कॉर्पोरेट से एलएलपी तक, बिज़नेस के मालिक को अपनी कंपनी या एलएलपी का पैन सबमिट करना होगा.

एकल मालिकों के लिए, एकल मालिक का पैन भी दर्ज किया जा सकता है.

एमएसएमई डेटाबैंक रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया

एमएसएमई डेटाबैंक रजिस्ट्रेशन पात्रता स्पष्ट करने वाले बिज़नेस केवल रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरकर ऑनलाइन पोर्टल पर रजिस्टर कर सकते हैं. बिज़नेस के मालिक इन चरणों का पालन कर सकते हैं:

  1. एमएसएमई डेटाबैंक की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं और वहां उल्लिखित आवश्यक विवरण भरें. इनमें आधार और पैन का विवरण, एंटरप्राइज़ का नाम, राज्य और एड्रेस आदि शामिल हैं.
  2. अगले पेज पर, फैक्टरी और प्रॉडक्ट विवरण दर्ज करें, जैसे एंटरप्राइज़ का एड्रेस, राज्य, रोज़गार की स्थिति और पिछले फाइनेंशियल इयर के लिए टर्नओवर आदि.
  3. अन्य विवरण अनुभाग में, बैंक का नाम, अकाउंट नंबर, आईएफएससी कोड, पुरस्कार विवरण आदि जैसी जानकारी भरें.
  4. अतिरिक्त आवश्यकताओं वाले सेक्शन में, बिज़नेस के लिए विशेष विवरण भरें, जैसे कि सौर ऊर्जा का उपयोग, जॉइंट वेंचर, एक्सपोर्ट, क्यूसी आदि, और फॉर्म सबमिट करें.

फॉर्म सबमिट करने के बाद, एप्लीकेंट को मेल आईडी पर एमएसएमई डेटाबैंक वेरिफिकेशन मेल प्राप्त होगा. सत्यापन पूरा होने के बाद, आप एमएसएमई डेटाबैंक पोर्टल में लॉग-इन कर सकते हैं.

एमएसएमई डेटाबैंक डिजिटल इंडिया अभियान की दिशा में एक बड़ा कदम है, क्योंकि छोटे बिज़नेस उद्यमी आसानी से सरकारी लाभ और पॉलिसी का लाभ उठा सकते हैं. इसके अलावा, एमएसएमई विभिन्न प्रोसीज़र, जैसे फाइनेंशियल सहायता और उन्नत तकनीकी सहायता के संबंध में मदद प्राप्त कर सकते हैं.

अधिक पढ़ें कम पढ़ें