होम लोन

> >

होम लोन की ब्याज़ दर क्या है

तुरंत अप्लाई करें

मात्र 60 सेकेंड
में अप्लाई करें

अपना प्रथम और अंतिम नाम दर्ज़ करें
अपना 10 अंकीय मोबाइल नंबर दर्ज़ करें
अपना पिन कोड दर्ज करें

मैं बजाज फिनसर्व के प्रतिनिधि को इस एप्लीकेशन और दूसरे प्रॉडक्ट/सर्विसेज़ हेतु कॉल/SMS करने के लिए अधिकृत करता/करती हूं. इस सहमति से DNC/NDNC के लिए किया गया मेरा रजिस्ट्रेशन कैंसल हो जाएगा. नियम व शर्तें

आपके मोबाइल नंबर पर एक OTP भेज दिया गया है

वन टाइम पासवर्ड दर्ज़ करें*

0 सेकेंड
निवल मासिक सेलरी दर्ज़ करें
जन्मतिथि चुनें
PAN कार्ड के विवरण दर्ज़ करें
लिस्ट में से नियोक्ता का नाम चुनें
व्यक्तिगत ईमेल एड्रेस दर्ज़ करें
ऑफिसियल ईमेल एड्रेस दर्ज़ करें
मौजूदा मासिक देनदारियों को दर्ज़ करें
अपनी मासिक सेलरी दर्ज़ करें
सालाना कारोबार दर्ज़ करें (18-19)

धन्यवाद!

भारत में होम लोन की ब्याज़ दर

आपके होम लोन की मूल राशि पर ब्याज़ दर इसके किफायती होने का प्राथमिक कारक है. जब आप अपना होम लोन चुकाते हैं, तब आमतौर पर आपकी प्रत्येक EMI में मूलराशि और ब्याज़ का भुगतान शामिल होता है. इसीलिए, किफायती होम लोन ब्याज़ दर पर लोन स्वीकृत करवाने से आपको आपके होम लोन को किफायती बनाने में मदद मिलती है.

होम लोन की ब्याज़ दर क्या होती है?

संक्षेप में, उधार लिए गए पैसों को चुकाते समय हर महीने मूल के साथ भुगतान की जाने वाली अतिरिक्त राशि, ब्याज़ दर कहलाती है. यह लोन के रूप में आपके द्वारा ली गई कुल राशि के आधार पर वार्षिक रूप से लगाई जाती है. यहां यह समझना जरूरी है कि ब्याज़ की दर दो प्रकार की होती हैं: फिक्स्ड और फ्लोटिंग. निश्चित ब्याज़ दर वह होती है जो आपके होम लोन के पूरे कार्यकाल में निरंतर बनी रहती है. दूसरी तरफ, फ्लोटिंग ब्याज़ दर, वह दर है जो समय-समय पर बदलती है. इसका अर्थ है कि अगर ब्याज़ दर बढ़ती है, तो आपके लोन की ब्याज़ दर भी बढ़ेगी. लेकिन, इसका मतलब यह भी है कि अगर ब्याज़ दर में गिरावट आती है, तो आपको यह लाभ कम EMI के रूप में प्राप्त होगा. जबकि प्रत्येक के अपने पक्ष और विपक्ष हैं, लेकिन यह महत्वपूर्ण है कि आप अपनी स्थिति के अनुरूप किसे चुनते हैं.

होम लोन की ब्याज़ दर को प्रभावित करने वाले कारक क्या हैं?

असल में, होम लोन की मौजूदा ब्याज़ दर कई फैक्टर पर निर्धारित होती है, उनमें से कुछ नीचे दिए गए हैं.

1. REPO रेट: REPO रेट पर RBI बैंकों को पैसे देता है. अगर REPO रेट गिरती है, तो अर्थव्यवस्था में अधिक धन संचरण में आ जाता है, जिससे आपके लोन की ब्याज़ दर भी गिर जाती है. इसी तरह, जब REPO रेट बढ़ती है, तब ब्याज़ दर भी उसके अनुसार बढ़ती है.

2. लोन की मांग: ब्याज़ दर भी मांग और आपूर्ति पर निर्भर करती है. अगर लोन की मांग अधिक हो, तो बैंकों और अन्य फाइनेंशियल संस्थानों के पास उधार देने हेतु कम पैसे होंगे. परिणामस्वरूप ब्याज़ की दर अधिक होगी.

3. कैश रिज़र्व रेशियो: यह वह राशि है जिसे बैंकों को RBI के पास जमा रखना होता है. अगर CRR बढ़ती है, तो बैंकों के पास लोन के रूप में उधार देने के लिए पैसे कम पड़ जाते हैं. परिणामस्वरूप ब्याज़ की दर बढ़ जाती है. इसी तरह, अगर CRR कम होती है, तो बैंकों के पास लोन देने के लिए अधिक पैसे होते हैं, और वह कम ब्याज़ दर पर लोन दे सकते हैं.

उपरोक्त के अलावा, व्यक्तिगत और आपके द्वारा चुने गए लेंडर से संबंधित कारकों के आधार पर भी ब्याज़ दर निर्भर हो सकती है. उदाहरण के लिए, आपका क्रेडिट स्कोर और मौजूदा क़र्ज़ आपके लिए प्रस्तुत होम लोन की ब्याज़ दर को प्रभावित कर सकता है. सीजनल ऑफर के चलते आपका लेंडर आपको कम ब्याज़ दर पर भी लोन दे सकता है.

जब आप उन कारकों को समझ जाते हैं जो आपके होम लोन की ब्याज़ दरों को प्रभावित करते हैं, तो आप एक ऐसा लेंडर चुनें जो आपको सबसे कम ब्याज़ दर प्रदान करता है.. इससे आपको यह सुनिश्चित करने में मदद मिलेगी कि आप जो लोन ले रहे हैं वह आपके लिए उपयुक्त है बजाज फिनसर्व का होम लोन एक ऐसा ही विकल्प है ब्याज़ की मामूली दर के अलावा, बजाज फिनसर्व द्वारा प्रदान किए जाने वाले कई अन्य लाभ भी हैं.

देखें कि वे क्या हैं.

• न्यूनतम पात्रता और डॉक्यूमेंटेशन के कारण लोन लेना आसान है.
• इसका एप्लीकेशन प्रोसेस आसान है और आप इसे कुछ ही मिनटों में पूरा कर सकतें हैं.
• आप सुरक्षित कस्टमर पोर्टल के माध्यम से अपनी सुविधा के अनुसार लोन को संचालित कर सकते हैं, और उसकी स्टेटमेंट देख सकते हैं.
• बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के आप अपने लोन का पार्ट प्री-पेमेंट या उसे फोरक्लोज़ कर सकते हैं.
फ्लेक्सी हाइब्रिड होम लोन आपको 4 वर्षों के बाद मूलधन का भुगतान करने की सुविधा देता है. इसके साथ, आप पहले 4 वर्षों के लिए अपनी EMI के रूप में केवल ब्याज़ का भुगतान कर सकते हैं, और भविष्य में पुनर्भुगतान का प्लान बनाने और सेविंग करने के लिए समय का उपयोग कर सकते हैं.
• आप अपने पुनर्भुगतान को आसान बनाने के लिए पहली EMI 3 महीने बाद भी भर सकते हैं या पैसों की अतिरिक्त आवश्यकता को पूरा करने के लिए टॉप-अप लोन ले सकते हैं.
• बजाज फिनसर्व द्वारा जो प्रॉपर्टी डोजियर और प्रॉपर्टी सर्च की सेवाएं दी जा रही हैं वह आपकी आपके बजट अनुसार सही घर चुनने और खरीदने के तकनीकी पहलुओं में सहायता करती हैं.
 

अब जब आप ब्याज़ दरों और इनसे आपके लोन पर पड़ने वाले प्रभाव को समझ गए हैं, तो अपने लोन को सही तरीके से व्यवस्थित करें और आपके लिए उपलब्ध विकल्पों में से सर्वश्रेष्ठ होम लोन विकल्प को चुनें.

अन्य लोकप्रिय प्रॉडक्ट के बारे में जानें

होम लोन बैलेंस ट्रांसफर

अतिरिक्त डॉक्यूमेंटेशन के बिना टॉप-अप लोन पाएं

अप्लाई करें

होम लोन EMI कैलकुलेटर

लोन राशि पर अपनी मासिक EMI, किश्त और ब्याज़ दरों को कैलकुलेट करें

अभी कैलकुलेट करें

होम लोन पात्रता कैलकुलेटर

अपनी होम लोन की पात्रता जानें और उसी के अनुसार एप्लीकेशन राशि प्लान करें

अभी कैलकुलेट करें

होम लोन की ब्याज़ दर

Check the current Home Loan
ब्याज़ दरें

और अधिक जानें