गोल्ड लोन पर टैक्स लाभ कैसे प्राप्त करें

2 मिनट का आर्टिकल

गोल्ड लोन लोकप्रिय फंडिंग विकल्प हैं जो आकर्षक विशेषताओं और लाभों के साथ आते हैं. लंबी पुनर्भुगतान अवधि के साथ हाई-वैल्यू फाइनेंसिंग से आपको बड़े खर्चों को कवर करने और आसानी से उनका पुनर्भुगतान करने में मदद मिलती है. ऐसे एडवांस का लाभ का एक और टॉप लाभ है गोल्ड लोन द्वारा टैक्स लाभ.

कोई भी टैक्स कटौती या छूट, जो उधारकर्ता प्राप्त कर सकता है, वह फंड के उपयोग और उपयोग किए गए लोन की मात्रा पर निर्भर करता है. गोल्ड लोन उधारकर्ता के लिए टैक्स लाभ लेने के तरीके नीचे दिए गए हैं.

गोल्ड लोन के टैक्स लाभ क्या हैं

1. होम इम्प्रूवमेंट फाइनेंसिंग

उधारकर्ता घर के सुधार के लिए उपयोग की गई गोल्ड लोन राशि पर टैक्स छूट का लाभ उठा सकते हैं. इनकम टैक्स अधिनियम 1961 के सेक्शन 80सी के तहत होम इम्प्रूवमेंट टैक्स लाभ रु. 1.5 लाख की वार्षिक कैपिंग के साथ उपलब्ध हैं. ऐसी कटौती केवल चुकाए गए लोन मूलधन के लिए उपलब्ध है और यह सभी प्रकार के होम रिपेयर, रिप्लेसमेंट और सुधार के खर्चों के लिए मान्य है.

2. आवासीय प्रॉपर्टी की खरीद या निर्माण

अगर राशि का उपयोग आवासीय प्रॉपर्टी खरीदने या उसके निर्माण के लिए किया जाता है, तो इनकम टैक्स अधिनियम की सेक्शन 24, उधारकर्ता को गोल्ड लोन टैक्स छूट के लिए पात्र बनाता है. वार्षिक रूप से उपलब्ध कटौती राशि रु. 2 लाख तक सीमित है और यह ऐसे लोन पुनर्भुगतान के देय ब्याज के लिए मान्य है. कटौती लागू होने के लिए आवासीय प्रॉपर्टी का स्वामित्व उधारकर्ता के पास होना चाहिए.

3. बिज़नेस के खर्चों के लिए उपयोग

अगर उधारकर्ता बिज़नेस के खर्चों के लिए लोन राशि का उपयोग करते हैं, तो उधारकर्ताओं के लिए गोल्ड लोन टैक्स लाभ उपलब्ध हैं. अगर लोन का उपयोग बिज़नेस द्वारा किए गए खर्चों को पूरा करने के लिए किया जाता है, तो ऐसी लोन राशि पर लागू ब्याज़ इनकम टैक्स अधिनियम के लागू प्रावधानों के तहत बिज़नेस खर्च के रूप में कटौती योग्य है.

4. असेट्स खरीदना

अगर प्रॉपर्टी के अलावा किसी अन्य एसेट की खरीद के लिए राशि का उपयोग किया जाता है, तो भी गोल्ड लोन पर टैक्स छूट लागू होती है. एक उधारकर्ता केवल उसी वित्तीय वर्ष में ऐसे लाभ उठा सकता है जब एसेट को बेचा जाता है. एसेट खरीदने के लिए उपयोग की गई ऐसी लोन राशि के लिए भुगतान किए गए ब्याज़ को खरीद की लागत माना जाता है, जिससे उनपर टैक्स लाभ प्राप्त किए जा सके.

उल्लिखित गोल्ड लोन टैक्स कटौतियों के अलावा, उधारकर्ता को यह जानना चाहिए कि प्राप्त की गई कुल लोन राशि को आय स्रोत नहीं माना जाता, जो इस लोन को गैर-टैक्स योग्य बनाता है.

गोल्ड लोन लेने के लिए आवश्यक डॉक्यूमेंट

गोल्ड लोन एप्लीकेशन के लिए आवश्यक डॉक्यूमेंट लेंडिंग संस्थानों द्वारा निर्धारित केवाईसी मानदंडों के अनुसार होते हैं. एप्लीकेशन के लिए आवश्यक सामान्य गोल्ड लोन डॉक्यूमेंट में निम्नलिखित शामिल हैं.

  • आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस आदि जैसे पहचान के प्रमाण.
  • वोटर आईडी कार्ड, आधार कार्ड, राशन कार्ड, पासपोर्ट, यूटिलिटी बिल आदि जैसे एड्रेस के प्रमाण.
  • उधारकर्ता के व्यवसाय के आधार पर इनकम प्रूफ, जैसे सेलरी स्लिप, बैंक अकाउंट स्टेटमेंट, फाइनेंशियल स्टेटमेंट आदि.

ब्याज़ दरें और शुल्क

बजाज फिनसर्व की गोल्ड लोन की ब्याज दर को इसकी सेक्योर्ड प्रकृति और फाइनेंसिंग की बढ़ती मांग के कारण किफायती और प्रतिस्पर्धी रखा जाता है. शून्य प्रोसेसिंग फीस और मामूली डॉक्यूमेंटेशन शुल्क के साथ गोल्ड लोन की दरें मात्र 11% से शुरू होती हैं.

एडवांस के आसान पुनर्भुगतान के लिए सबसे किफायती उधार विकल्प खोजने के लिए गोल्ड लोन पर ब्याज़ दरों और शुल्कों की तुलना करें. लोन पुनर्भुगतान पर बचत को बढ़ाने के लिए उपलब्ध गोल्ड लोन टैक्स लाभ प्राप्त करें.

अधिक पढ़ें कम पढ़ें