अपना परिचय दें

भारतीय रिज़र्व बैंक ने नॉन-बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी से संबंधित अपने मास्टर डायरेक्शन नंबर DNBR.PD.008/03.10.119/2016-17 द्वारा सिस्टमिक रूप से महत्वपूर्ण नॉन-डिपॉजिट लेने वाली कंपनी और डिपॉजिट लेने वाली कंपनी (रिज़र्व बैंक) संबंधी निर्देश 2016, जैसा कि समय-समय पर अपडेट होता है, उसमें एनबीएफसी को बोर्ड ऑफ डायरेक्टर द्वारा विधिवत रूप से अप्रूव किए गए नीलामी प्रोसेस को आयोजित करने की सलाह दी गई है.

गोल्ड ज्वेलरी की नीलामी का प्रोसेस

गोल्ड लोन नीलामी प्रोसेस में निलामी के पहले पर्याप्त रूप से डिफॉल्ट उधारकर्ताओं को सूचित करने के बाद, उसके द्वारा गिरवी रखे गए सोने की कीमत की प्राप्ति शामिल है, अगर उधारकर्ता ने निम्नलिखित परिस्थितियों में अपनी बकाया लोन राशि का भुगतान नहीं किया है:

  • लोन पुनर्भुगतान शिड्यूल के अनुसार या मार्जिन राशि प्रदान करने में विफलता के कारण, गोल्ड लोन की शर्तों के अनुसार और कंपनी - बजाज फाइनेंस लिमिटेड द्वारा अनुरोध किए जाने पर; या
  • अगर गोल्ड लोन एप्लीकेशन के समय कंपनी द्वारा निर्धारित गोल्ड की दर नीचे की ओर जाती है.

कंपनी नीलामी आयोजित करके रिकवरी के अधिकार का उपयोग कर सकती है. नीलामी से पहले, डिफॉल्ट उधारकर्ताओं से विभिन्न कम्युनिकेशन माध्यमों (जैसे एसएमएस, इंटरएक्टिव वॉयस रिस्पांस (आईवीआर), वॉयस कॉल) के साथ-साथ डिफॉल्ट और नीलामी नोटिस के माध्यम से संपर्क करके बकाया राशि का भुगतान करने का अनुरोध किया जाएगा, साथ ही उन्हें स्पष्ट रूप से यह सूचित किया जाएगा कि बकाया राशि का भुगतान न करने के मामले में बजाज फाइनेंस लिमिटेड द्वारा गिरवी रखे सोने की नीलामी शुरू कर दी जाएगी. नोटिस की अवधि की समाप्ति के बाद, आरबीआई दिशानिर्देशों के अनुसार, सार्वजनिक नोटिस जारी किया जाएगा, जो नीलामी में भाग लेने के लिए बोलियां आमंत्रित करने के लिए कम से कम दो न्यूज़पेपर, एक स्थानीय भाषा में और दूसरा राष्ट्रीय दैनिक न्यूज़पेपर विज्ञापन के माध्यम से जारी किया जाएगा.

बकाया लोन की रिकवरी को तेज़ करने के लिए, इस प्रोसेस को समयबद्ध तरीके से नीलामी को पूरा करने के लिए डिज़ाइन किया गया है.

निलामीकर्ता की नियुक्ति

नीलामी को नीचे दिए गए दिशानिर्देशों के अनुसार नीलामीकर्ता द्वारा आयोजित किया जाएगा:
  • नीलामीकर्ता के रूप में पैनल में शामिल होने के लिए स्थापित और प्रतिष्ठित नीलामकर्ता/नीलामी एजेंसियों से एप्लीकेशन आमंत्रित की जाएंगी;
  • एप्लीकेशन की जांच की जाएगी, और निलामीकर्ताओं को निर्धारित पैरामीटर के आधार पर चुना जाएगा;
  • चयनित/ एम्पैनल किए गए नीलामीकर्ताओं को बजाज फाइनेंस लिमिटेड के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर/बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स द्वारा नियुक्त मैनेजिंग डायरेक्टर द्वारा अनुमोदित किया जाएगा;
  • भुगतान को मार्केट रेट और नीलामी के समय के अनुसार निर्धारित किया जाएगा;

नीलामी को विशेष रूप से नियुक्त कर्मचारियों की एक स्वतंत्र इंटरनल टीम द्वारा भी आयोजित किया जा सकता है, जिसे इस उद्देश्य के लिए नियुक्त किया जाएगा. ऐसी टीम के अधिकारियों के पास नीलामीकर्ता के रूप में कार्य करने का आवश्यक कौशल होना चाहिए. टीम के अधिकारी नीलामी का आयोजन करने के लिए नीलामी से संबंधित स्थानों पर जाएंगे.

नीलामीकर्ता की भूमिका

नीलामकर्ता नीचे दी गई भूमिका को निभाते हुए नीलामी प्रोसेस के सुचारू संचालन को सक्षम करने के लिए एक सुविधाकर्ता के रूप में कार्य करेंगे:
  • नीलामी की निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके से संचालन करने की ज़िम्मेदारी नीलामीकर्ता की होती है.
  • नीलामीकर्ता का कार्य यह सुनिश्चित करना है कि बोली लगाने वाले द्वारा एप्लीकेशन फॉर्म को विधिवत रूप से भरा गया है और नीलामी शर्तों के अनुसार बयाना राशि को जमा किया गया है.
  • नीलामीकर्ता द्वारा प्रतिस्पर्धी बोली को प्रोत्साहित किया जाएगा और सुनिश्चित किया जाएगा कि बोली की कीमत, नीलामी की तिथि पर India Bullion और Jewellers Association Limited द्वारा प्रकाशित सोने की दर से कम न हो.
  • नीलामीकर्ता यह सुनिश्चित करने के लिए उचित और पर्याप्त कदम उठाएंगे कि नीलामी प्रोसेस में बोली लगाने वालों ने किसी भी तरह की सांठ-गांठ न की हो.

नीलामी का स्थान

नीलामी को उस ब्रांच या नगर या तालुका में आयोजित किया जाएगा, जहां लोन देने वाली ब्रांच स्थित है. अगर बोली लगाने वालों की कमी आदि जैसे कारणों से नीलामी को निर्धारित दिन पर ब्रांच पर आयोजित नहीं किया जाता है, तो. ब्रांच द्वारा ब्रांच नोटिस बोर्ड पर अगली नीलामी की तिथि और स्थान को प्रदर्शित किया जाएगा.

डिफॉल्ट की घटनाएं

निम्नलिखित सांकेतिक घटनाओं या परिस्थितियों में से किसी (या अन्य घटनाओं के साथ संयुक्त रूप से) भी घटना को डिफॉल्ट ("डिफॉल्ट की घटना") माना जाएगा:

  1. अगर उधारकर्ता नियत तारीख को या उससे पहले किसी भी ईएमआई या बकाया देय राशि का भुगतान करने में विफल रहता है या गोल्ड लोन डॉक्यूमेंट में शामिल किसी भी नियम, अनुबंध या शर्तों का उल्लंघन करता है;
  2. अगर आवश्यक मार्जिन मेंटेन नहीं किया जाता है;
  3. अगर जमा की गई गोल्ड ज्वेलरी नकली, खराब, चुराई गई, जाली या निम्न क्वालिटी वाली पाई जाती है;
  4. अगर उधारकर्ता दिवालिया बनने जैसा कोई कार्य करता है या अगर उधारकर्ता को दिवालिया या लोन भुगतान करने में असमर्थ ठहराया या घोषित किया जाता है या अगर उधारकर्ता के एसेट के लिए किसी को लिक्विडेटर, रिसीवर या आधिकारिक रूप से भागी बनाया जाता है;
  5. अगर लेंडर, किसी भी नियामक या अन्य कारणों से, लोन जारी रखने में असमर्थ है या लोन जारी रखने के लिए इच्छुक नहीं है;
  6. उधारकर्ता लेंडर या किसी अन्य क्रेडिटर के साथ किसी अन्य लोन के भुगतान में डिफॉल्ट घोषित होता है;
  7. अगर एप्लीकेशन फॉर्म और लोन डॉक्यूमेंट्स में प्रदान किया गया कोई भी कथन या वर्णन या विवरण झूठा, भ्रामक या गलत पाया जाता है;
  8. लेंडर की राय में ऐसी कोई भी परिस्थितियां, जो लेंडर के हित को खतरे में डालती हैं.

गोल्ड ज्वेलरी के लिए नीलामी प्रोसेस

जैसा कि ऊपर "डिफॉल्ट की स्थितियों" में बताया गया है कि सोने के निलामी के प्रोसेस में उधारकर्ता द्वारा डिफॉल्ट की स्थिति में, उसके द्वारा गिरवी रखी गई गोल्ड ज्वेलरी की नीलामी की जाती है. डिफॉल्ट की स्थिति में, बजाज फाइनेंस लिमिटेड द्वारा नीलामी का प्रोसेस शुरू किया जा सकता है. नीलामी के प्रोसेस में निम्नलिखित चरण शामिल हैं:

  1. उधारकर्ता को डिफॉल्ट की जानकारी/सूचना
  2. उधारकर्ता को नीलामी के पहले नोटिस द्वारा सूचना
  3. नीलामी करने के लिए विज्ञापन
  4. नीलामी करने के लिए दिशानिर्देश
  5. नीलामी इवेंट का डॉक्यूमेंटेशन
  6. गोल्ड ज्वेलरी की डिलीवरी
  7. लोन एडजस्टमेंट
  8. उधारकर्ता से संपर्क

सोने की नीलामी के प्रोसेस में शामिल प्रत्येक चरणों के बारे में अधिक जानकारी के लिए पढ़ें:

1. उधारकर्ता को डिफॉल्ट की जानकारी/सूचना

  • बजाज फाइनेंस लिमिटेड द्वारा पुनर्भुगतान की देय तिथि से 15 दिन पहले, उधारकर्ताओं को गोल्ड लोन एप्लीकेशन फॉर्म में दर्ज एड्रेस पर या बाद में बदले गए एड्रेस पर नोटिस द्वारा सूचना ("नोटिस द्वारा सूचना") भेजी जाएगी.
  • लोन की निर्धारित पुनर्भुगतान तिथि या ब्याज़ भुगतान की तिथि से कम से कम 15 दिनों के बाद पहला डिफॉल्ट नोटिस भेजा जाएगा.
  • गोल्ड की दर नीचे जाने या ब्याज़ दर बढ़ने के कारण मार्जिन में कमी की स्थिति में, उधारकर्ता को 3 दिनों के भीतर, मार्जिन में इस तरह की कमी को पूरा करने के लिए सूचित किया जाएगा. कंपनी द्वारा यह जानकारी लोन एप्लीकेशन फॉर्म में उधारकर्ता द्वारा प्रदान किए गए टेलीफोन नंबर पर भेजी जाएगी. इसके अलावा, उधारकर्ता को मार्जिन में कमी की तिथि से 3 दिनों के भीतर, मार्जिन को उपयुक्त बनाने के लिए एक सूचना नोटिस ("सूचना नोटिस") जारी किया जाएगा.

यह सुनिश्चित किया जाएगा कि बजाज फाइनेंस लिमिटेड को मूलधन और संचित ब्याज़ के लिए, उधारकर्ता द्वारा प्रदान की जाने वाली कोलैटरल वैल्यू में पूरी तरह से कवर किया गया है. नीलामी करने के अनेक कारणों में से एक कारण मार्जिन का 15% नीचे होना है.

यह नोटिस उधारकर्ता को देय पावती के साथ रजिस्टर्ड पोस्ट (आरपीएडी) या कूरियर द्वारा या उचित पावती के साथ हाथ से वितरण द्वारा भेजा जाएगा. मान लें कि बजाज फाइनेंस लिमिटेड द्वारा जारी इन नोटिस को वापस भेज दिया गया हो/इनकी डिलीवर नहीं हुई हो. इस स्थिति में, बजाज फाइनेंस लिमिटेड की संबंधित ब्रांच अपने रिकॉर्ड में उचित टिप्पणियों के साथ उस रिटर्न नोटिस को संभाल कर रखेगी.

ध्यान दें: भेजे गए सभी नोटिसों के लिए, जो आरपीएडी/कूरियर के माध्यम से बजाज फाइनेंस लिमिटेड द्वारा भेजे गए हैं, अगर उनकी पावती प्राप्त नहीं की गई है या पोस्टल अथॉरिटी द्वारा आरपीएडी पोस्टल लिफाफे को रिटर्न नहीं किया गया है, तो यह माना जाएगा कि नोटिस को डिस्पैच की तिथि से 4 (चार) दिनों के भीतर उधारकर्ता द्वारा प्राप्त कर लिया गया है.

2. उधारकर्ता को नीलामी के पहले नोटिस द्वारा सूचना

मान लीजिए कि उधारकर्ता ऊपर दर्ज नोटिस देने के बावजूद बकाया राशि चुकाने में असफल रहता है. इस स्थिति में, डिफॉल्ट नोटिस जारी होने की तिथि से 21 दिनों की समाप्ति पर एक 'नीलामी सूचना नोटिस' जारी किया जाएगा, जिसमें उधारकर्ता को स्पष्ट रूप से यह सूचित किया जाएगा कि 'नीलामी सूचना नोटिस' जारी किए जाने के 12 दिनों के बाद, किसी भी समय, गिरवी रखी गई गोल्ड ज्वेलरी की नीलामी कर दी जाएगी. इस नीलामी से प्राप्त राशि से आकस्मिक खर्चों के साथ-साथ लोन के तहत बकाया किसी भी राशि की वसूली करने में आई सभी लागत/खर्च (जैसे, नीलामी खर्च, कानूनी खर्च, टैक्स, आदि) और उनसे जुड़े घाटे की भी पूर्ति की जाएगी. साथ ही, 'नीलामी सूचना नोटिस' में स्पष्ट रूप से उल्लेख किया जाएगा कि यदि वसूल की गई वैल्यू, लोन का बकाया भुगतान करने के लिए पर्याप्त नहीं है, जैसा कि ऊपर बताया गया है, तो बजाज फाइनेंस लिमिटेड उधारकर्ता के खिलाफ उचित कानूनी कार्यवाही शुरू करेगा.

  • गोल्ड की दर नीचे जाने या ब्याज़ दर बढ़ने के कारण, अगर उधारकर्ता ऊपर दर्ज सूचना नोटिस में दी गई विशिष्ट अवधि के भीतर बकाया राशि का भुगतान करने में असफल रहता है, तो सूचना नोटिस जारी होने के चार (4) दिनों के भीतर '< b>नीलामी सूचना नोटिस' के ज़रिए उधारकर्ता को गिरवी रखी गई गोल्ड ज्वेलरी की नीलामी के बारे में सूचित किया जाएगा.
  • नीलामी सूचना नोटिस में नीलामी की तिथि, समय और स्थान का उल्लेख किया जाएगा.

3. देय तिथि पर भुगतान न करने के मामलों में नीलामी आयोजित करने के लिए विज्ञापन

गिरवी रखी गई गोल्ड ज्वेलरी की प्रस्तावित नीलामी द्वारा बिक्री संबंधी नीलामी नोटिस को दो अखबारों यानी स्थानीय अखबारों और राष्ट्रीय दैनिक अखबारों में प्रकाशित किया जाएगा. नीलामी नोटिस में निम्नलिखित जानकारी भी शामिल की जाएगी:

  • इसमें प्रस्तावित नीलामी की तिथि, समय और स्थान के बारे में स्पष्ट विवरण दिया जाएगा; लोन नंबर, सामग्री, नीलामी के नियम और शर्तें दर्ज होंगे.
  • यह सूचित किया जाएगा कि गिरवी रखी गई ज्वेलरी की बिक्री "जहां है जैसी है"; के आधार पर की जा रही है
  • यह उल्लेख किया जाएगा कि बजाज फाइनेंस लिमिटेड, नीलामी के ज़रिए बिक्री प्रोसेस के दौरान, किसी भी समय, किसी भी या सभी बोली को अस्वीकार करने और बोली लगाने वालों को बिना कोई कारण बताए नीलामी को स्थगित करने/वापस लेने का अधिकार सुरक्षित रखता है; और
  • इसमें उल्लेख किया जाएगा कि, सार्वजनिक रूप से नीलामी के ज़रिए बिक्री न होने/फेल होने/कैंसल होने की स्थिति में, बजाज फाइनेंस लिमिटेड, उधारकर्ताओं के कहने पर, गिरवी रखी गई गोल्ड ज्वेलरी को प्राइवेट बिक्री के माध्यम से बेचने का अधिकार भी सुरक्षित रख सकता है.

4. नीलामी करने के लिए दिशानिर्देश 

नीलामी को निम्नलिखित आधार पर आयोजित किया जाएगाः:

  • प्री-अप्रूव्ड नियम और शर्तों के अनुसार नीलामीकर्ताओं को गिरवी रखी गई गोल्ड ज्वेलरी दिखाई जाएगी.
  • बजाज फाइनेंस लिमिटेड या उसके ऑन-रोल कर्मचारी नीलामी में बोली नहीं लगाएंगे.
  • बजाज फाइनेंस लिमिटेड, गोल्ड ज्वेलरी के मूल्यांकन के आधार पर प्रत्येक गिरवी की बोली से रिकवर की जाने वाली न्यूनतम राशि तय करेगा. रिकवरी की जाने वाली राशि में लोन से संबंधित मूलधन और ब्याज़, और नोटिस एवं नीलामी खर्च सहित सभी कीमत और खर्च शामिल होंगे और इसके अलावा घाटे की भी पूर्ति की जाएगी.
  • सोने की नीलामी करते समय, बजाज फाइनेंस लिमिटेड गिरवी रखी गई गोल्ड ज्वेलरी की रिज़र्व वैल्यू घोषित करेगा. गिरवी रखी गई गोल्ड ज्वेलरी की रिज़र्व वैल्यू, Indian Bullion and Jewelers Association Limited (IBJA) द्वारा घोषित 22-कैरेट गोल्ड की पिछले 30-दिन की औसत क्लोजिंग प्राइस के 85 प्रतिशत (या आरबीआई द्वारा समय-समय पर दी गई सलाह के अनुरूप) से कम नहीं होगा.
  • नीलामी का आयोजन करते समय, बजाज फाइनेंस लिमिटेड के अधिकारी को नीलामी के लिए गिरवी रखी गई गोल्ड ज्वेलरी की पूरी मार्केट वैल्यू को वसूल करने प्रयास करना चाहिए. कंपनी के ब्रांच कर्मचारी नीलामी में भाग लेने वाले प्रतिभागियों को अपनी पहचान कराएंगे और उनसे केवाईसी डॉक्यूमेंट (जैसे, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस आदि) एकत्र करेंगे. बोली लगाने वालों के हस्ताक्षर भी अलग रजिस्टर में लिए जाएंगे.
  • सभी बोली लगाने वाले प्रतिभागियों को बयाना राशि जमा (ईएमडी) के रूप में एक निश्चित राशि (जैसा स्थिति के आधार पर तय किया जाता है) का भुगतान करना होगा.

सबसे अधिक बोली लगाने वाले के पक्ष में बिक्री को समाप्त कर दिया जाएगा.

5. नीलामी इवेंट का डॉक्यूमेंटेशन

नीचे दिए गए चरणों के आधार पर नीलामी प्रोसेस को तिथि अनुसार रिकॉर्ड करके उसका डाक्यूमेंट बनाया जाएगा, और नीलामी के ऐसे विवरण रिकॉर्ड में रखे जाएंगे:

  • नीलामी की कार्यवाही का संक्षिप्त विवरण;
  • उच्चतम बोली लगाने वाले का नाम;
  • वास्तविक राशि;
  • सफल बोली लगाने वालों को गोल्ड ज्वेलरी की डिलीवरी करना; और
  • इस कार्यवाही को रिकॉर्ड किया जाएगा और बजाज फाइनेंस के संबंधित अथॉराइज़्ड अधिकारी और कम से कम उन दो तटस्थ गवाहों द्वारा हस्ताक्षरित किया जाएगा, जिनका सफल बोली लगाने वालों के साथ कोई संबंध न हो.

6. गोल्ड ज्वेलरी की डिलीवरी

सफल बोली लगाने वाले को बोली की शेष राशि जमा करके नीलामी की तिथि से तीन कार्य दिवसों के भीतर गोल्ड ज्वेलरी की डिलीवरी लेनी होगी. बोली की शेष राशि को बैंक ट्रांसफर के माध्यम से भुगतान किया जाए या पुणे या विशिष्ट ब्रांच में देय बजाज फाइनेंस लिमिटेड के पक्ष में डिमांड ड्राफ्ट या ऑर्डर के माध्यम से भुगतान किया जाएगा. प्रत्येक सफल बोली लगाने वाले से पूर्ण भुगतान के बाद और गोल्ड ज्वेलरी की डिलीवरी के समय खरीद की रसीद ली जाएगी. अगर कोई सफल बोली लगाने वाला भुगतान की शर्तों का पालन करने में असफल रहता है, तो ऐसे बोली लगाने वाले की जमा बयाना राशि नीलामी के नियम और शर्तों के अनुसार ज़ब्त कर ली जाएगी, और बजाज फाइनेंस अपने विवेकाधिकार से गिरवी रखी गई गोल्ड ज्वेलरी को सार्वजनिक/प्राइवेट बिक्री के माध्यम से बेचने के लिए स्वतंत्र होगा.

उधारकर्ताओं के कहने पर, प्राइवेट बिक्री के मामले में पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए, बजाज फाइनेंस लिमिटेड प्रत्येक वस्तु के लिए या छोटे लॉट में स्थानीय ज्वेलर्स व्यक्तियों से ऑफर आमंत्रित कर सकता है.

7. लोन एडजस्टमेंट

नीलामी द्वारा बिक्री से प्राप्त राशि को बजाज फाइनेंस के साथ खोले गए उधारकर्ता के लोन से संबधित अकाउंट (“लोन अकाउंट”) में समायोजित किया जाएगा. अगर बिक्री से प्राप्त राशि कुल देय राशि से कम है, तो बजाज फाइनेंस तुरंत बकाया राशि की वसूली के लिए उधारकर्ता को एक डिमांड नोटिस भेजेगा. अगर बिक्री से हुई आय कुल देय राशि से अधिक है, तो अतिरिक्त / अधिशेष राशि उधारकर्ता को वापस कर दी जाएगी.

8. उधारकर्ता से संपर्क

नीलामी बिक्री प्रोसेस पूरा होने के बाद, संबंधित बजाज फाइनेंस ब्रांच, उधारकर्ताओं को एक पत्र के माध्यम से नीलामी द्वारा बिक्री के निम्नलिखित विवरण के बारे में सूचित करेगी:

  • नीलामी में बिक्री के माध्यम से बोली लगाने वाले से प्राप्त राशि;
  • नीलामी में बिक्री से प्राप्त धन को जमा करने के बाद लोन अकाउंट में हुई बढ़ोतरी या कमी;
  • लोन अकाउंट में कमी/घाटे की स्थिति में आगे की रिकवरी के लिए उचित कदम उठाए जाएंंगे, जिसे उधारकर्ताओं द्वारा पूरा किया जाएगा;