कार्पेट एरिया की गणना कैसे करें?

2 मिनट

रियल्टर और एजेंट, संभावित खरीदार को प्रॉपर्टी की विशेषताओं का वर्णन करने के लिए अक्सर कार्पेट, बिल्ट-अप या सुपर बिल्ट-अप एरिया जैसे शब्दों का इस्तेमाल करते हैं. इनमें से एक शब्द है 'कार्पेट एरिया' और यह घर का साइज़ निर्धारित करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है.

आसान शब्दों में, कार्पेट एरिया घर में उपयोग के लिए उपलब्ध कुल जगह है और इसकी गणना किसी मकान की दीवार-से-दीवार तक की दूरी मापकर की जाती है. रेरा अधिनियम के दिशानिर्देशों के अनुसार, हर डेवलपर को अनिवार्य रूप से प्रत्येक अपार्टमेंट के कार्पेट एरिया को बताना होता है, जिसके आधार पर अपार्टमेंट की बिक्री कीमत की गणना की जाती है.

कार्पेट एरिया में क्या शामिल है

कार्पेट एरिया में निम्नलिखित शामिल हैं

  • लिविंग रूम, डाइनिंग रूम, बेडरूम, ड्रेसिंग रूम और किसी अन्य रूम का उपयोग किया जा सकने वाला फ्लोर एरिया
  • किचन और बाथरूम की उपयोगी फ्लोर स्पेस
  • व्यक्तिगत स्थान पर आंतरिक दीवारों की मोटाई

कार्पेट एरिया में क्या शामिल नहीं है 

नीचे दी गई लिस्ट में कार्पेट एरिया में शामिल न होने वाले स्थान दिए गए हैं. 

  • बाहरी दीवारों की मोटाई
  • टेरेस स्पेस
  • लिफ्ट एरिया
  • लिफ्ट लॉबी
  • कॉरिडोर स्पेस

किसी भी प्रॉपर्टी की खरीदने से पहले कार्पेट एरिया के बारे में जानें ताकि आपके पास उपयोग के लिए पर्याप्त स्थान हो. बजाज फिनसर्व के प्रॉपर्टी पर लोन के साथ आप सभी चीजों को फाइनेंस कर सकते हैं.

इस इंस्ट्रूमेंट के साथ, आप आसान मॉरगेज पात्रता और डॉक्यूमेंट आवश्यकताओं पर रु. 3.5 करोड़ तक के लोन की मंजूरी के लिए अप्रूव कर सकते हैं. हम अपनी आकर्षक प्रॉपर्टी लोन विशेषताओं और लाभों के साथ ऐसे उपक्रमों को आसान बनाते हैं. इसलिए, आज ही लोन के लिए अप्लाई करें और आसान फाइनेंसिंग का लाभ उठाएं.

अधिक पढ़ें कम पढ़ें