• Apply Now

Money in bank in 24 hours

Apply Now

फेसबुक पर फेक एड्स कैसे पहचाने?

  • हाईलाइट:

  • फेसबुक पर लगातार चलते हुई विज्ञापनों से सावधान रहें

  • शॉपिंग करने से पहले की स्पेलिंग चेक करें

  • कैश ऑन डिलीवरी का इस्तेमाल करें 

  • फेक एड्स से सतर्क रहें 

इक्कीसवी शताब्दी में हम सभी के घर-परिवार का हर सदस्य फेसबुक का इस्तेमाल करता हैं। बच्चे और जवान लोग फेसबुक को पूरी तरह से इस्तेमाल करना जानते हैं मगर बड़े लोग अधिकांश बच्चो से अथवा एक दूसरे की मदद से ही इसका उपयोग कर पाते हैं।

अगर आपको एक हैरत की बात बताएं तो कई बार आधुनिक यंत्रो की अच्छी खासी समझ रखने वाले बच्चे भी इस पर चल रहे ऑनलाइन फ्रॉड का शिकार बन सकते हैं। फेसबुक और इंस्टाग्राम पर चल रहे एड्स हमेशा तो नहीं, लेकिन कई बार फ्रॉड होते हैं और ये फ्रॉड पहचान पाना काफी मुश्किल होता है। ऐसे में इन बातों को फेसबुक इस्तेमाल करते समय ज़रूर याद रखें :-


वेबसाइट की स्पेलिंग बहुत ध्यान से चेक करें

किसी भी सामान को खरीदने से पहले उस कंपनी की वेबसाइट यू-आर-एल को बारीकी से चेक करें। नॉएडा से हाल ही में दर्ज हुई 5 ऑनलाइन फ्रॉड कम्प्लेंट्स कुछ इसी प्रकार की थीं। MaxFashions.in के नाम से फ्रॉड किया गया। बाकायदा खरीदी करने पर उनको फ़र्ज़ी रिसिप्ट भी दी गई मगर रिसिप्ट में दिए गए नंबर और ईमेल आईडी भी जाली थे। फिर न तो वो नंबर कभी मिला और न ही कोई आर्डर आया और उन्हें अपने पैसे भी वापिस नहीं मिले। यदि उनमें से किसी ने भी गौर से maxfashion की स्पेलिंग ध्यान से देखी होती तो ये फ्रॉड कभी होता ही नहीं।

कैश ऑन डिलीवरी ही चुनें

कयूँ तो फेसबुक और इंस्टाग्राम पर बहुत सी ऐड और विज्ञापन आते है पर हर ऐड फ़र्ज़ी हो ये ज़रूरी नहीं है। ऐसे में हम सम्पूर्ण भरोसे से कभी नहीं कह सकते की कौनसी ऐड नकली है और कौनसी असली। फ्रॉड एड्स के नाम और यू.आर.एल समय समय पर बदलते रहते है ताकि इन तक कोई साइबर सिक्योरिटी पहुंच न पाए। पूरी तरह धोके से बचा तो नहीं जा सकता है मगर सतर्क रहकर आप सिर्फ कैश ऑन डिलीवरी से ही सामान की खरीद करें।

फेक एड्स पर नहीं लिखा होगा “Sponsored”

लोग अपने बिज़नेस को ज़्यादा से ज़्यादा लोगो तक पहुचाने के लिए फेसबुक एड्स के माध्यम का इस्तेमाल करते है। फ्रॉड और फेक एड्स को पहचानने का सबसे सही तरीका है उन पर sponsored शब्द न होना। सभी असली एड्स की तरह इन एड्स पर “sponsored” न होना इन्हे निश्चित रूप से एक फ्रॉड ऐड बनता है।

अब ऊपर लिखे गए उपायों द्वारा आप जान गए होंगे की फेसबूक पर फेक एड्स से कैसे बचें?


इसके साथ साथ नीचे बताई गई किसी भी वेबसाइट से खरीदारी न करें:

इन वेबसाइट्स के नाम पर बहुत फ्रॉड केस दर्ज हुए हैं, इन कुछ विज्ञापन को कभी क्लिक न करें और इनसे कोई खरीद न करें :-

1. MaxFashions.in

2. Sellshop.in

3. shopzillas

सतर्कता से ऑनलाइन शॉपिंग का लाभ उठाएँ और इन कुछ टिप्स को इस्तेमाल करने से आप खुदको साइबर फ्रॉड से बचा सकते हैं।

सावधान रहें। सुरक्षित रहें। 

How would you rate this article

 Please let us know why?

What did you dislike?

What did you dislike?

What did you like?

What did you like?

What did you like?