आपकी रिस्क​ प्रोफाइल

उन म्यूचुअल फंड्स में इन्वेस्ट करें जो आपकी रिस्क एपेटाइट और इन्वेस्टमेंट के लक्ष्यों के अनुरूप है

कृपया अपना प्रथम और अंतिम नाम दर्ज़ करें
कृपया अपनी ईमेल ID दर्ज़ करें
कृपया 10 अंकों का मोबाइल नंबर दर्ज़ करें

1. मैं नीचे बताये गए आयु वर्ग का हूं:

2. मेरी मासिक आय का वह हिस्सा जो घरेलू खर्चों और लोन किश्तों के भुगतान में जाता है, इस प्रकार है:

3. क्या मैंने विवाह, मेरे घर की खरीद, बच्चे की उच्च शिक्षा इत्यादि जैसे वित्तीय लक्ष्यों को पूरा करने के लिए कोई योजना बना कर तैयार रखी है.

4. मैं आमतौर पहले से जांचा-परखा, धीमा, लेकिन सुरक्षित इन्वेस्टमेंट चुनता हूं:

5. अब से 5 से 10 वर्षों के बाद, मुझे उम्मीद है कि मेरा इन्वेस्टमेंट हो जाएगा:

6. अपने प्रस्तावित इन्वेस्टमेंट से आपको किस समय इस धन की आवश्यकता होगी?

7. एसेट का मिश्रण जो मेरी अपनी पसंद से बहुत अधिक मिलता है:

8. अगर मुझे मेरे इक्विटी पोर्टफोलियो में घाटा हो रहा है, तो मैं अपना घाटा ………. से अधिक होने पर अपने इन्वेस्टमेंट को बेच कर निकल जाऊंगा:

9. मैं 5 वर्षों की अवधि के लिए निम्न प्रकार के पोर्टफोलियो को सबसे अधिक पसंद करूंगा:

10. कुछ बुरे इन्वेस्टमेंट फैसलो के बारे में मुझे बुरा नहीं लगता:

सेक्योर्ड: सेक्योर्ड इन्वेस्टमेंट करने व जोखिम न लेने वाले इन्वेस्टर, जिन का प्राथमिक उद्देश्य अपने मूल पैसा की सुरक्षा करना होता है. निश्चित आय निवेश उत्पाद में निवेशक के लिए ज़्यादातर पोर्टफ़ोलियो इस प्रोफ़ाइल में बनाए जाते हैं. पूंजी घटने का जोख़िम घटाने के लिए परिसंपत्ति का बहुत छोटा भाग ईक्विटी म्यूचुअल फंड में लगाया जाएगा. आदर्श स्थिति में इस प्रोफाइल के निवेशकों के लिए एसेट एलोकेशन इस प्रकार से होता है कि वह कुल रिटर्न के अवसरों को बढ़ा देता है. इस प्रोफाइल के लिए अनुशंसित होल्डिंग पीरियड 3-5 वर्ष है.

कंजरवेटिव : एक मध्यम इन्वेस्टर के रूप में, आपका उद्देश्य आय का स्थिर प्रवाह बनाए रखना और मुद्रास्फीति से लड़ना होगा. जबकि निवेश का आपका ज्ञान सीमित हो सकता है, पर आप थोड़ा अतिरिक्त कमाने का प्रयास के लिए संतुलित जोखिम लेना चाहेंगे. हालांकि बाज़ार में अस्थिरता आपको असहज बनाती है, लेकिन आप शायद मध्यम अवधि के लिए निवेश करके इसके साथ जुड़े रह पाएंगे. इस प्रोफ़ाइल के तहत निवेशक के लिए संपत्ति आवंटन, बाज़ार के अवसरों का लाभ उठाने के लिए पूंजी के साथ बहुत कम जोखिम लेने के दौरान आय का एक स्थिर प्रवाह बनाना चाहता है. इस प्रोफाइल के लिए अनुशंसित होल्डिंग पीरियड 5-10 वर्ष है.

बैलेंस्ड : एक बैलेंस्ड इन्वेस्टर के रूप में, आपका लक्ष्य में में एक रेगुलर इनकम और ग्रोथ प्राप्त करना है. आप संभावित रूप से उच्च रिटर्न के लिए उच्च जोखिम स्वीकार करने के इच्छुक हैं, लेकिन आप अपने निवेश राशि में कोई बड़ा स्विंग नहीं चाहतें हैं. आपको अपने निवेश की योजना बनाने का अंदाज़ा हो सकता है, इसलिए हो सकता है कि आप शुरू में निवेश की गई राशि से कम राशि वापस पाने की संभावना स्वीकार करेंगे. इस प्रोफाइल में इन्वेस्टर के वित्तीय एसेट का आवंटन फिक्स्ड इनकम एसेट और लॉन्ग टर्म ग्रोथ एसेट जैसे इक्विटी म्यूचुअल फंड, के बीच संतुलन प्राप्त करने के लिए होता है. इस प्रोफाइल के निवेशक को बीच-बीच में मार्केट के उतार-चढ़ाव, और उसकी पूंजी को मध्यम श्रेणी का जोखिम, देखना पड़ सकता है और इस प्रकार के निवेशकों के लिए 10-15 साल के होल्डिंग पीरियड की सलाह दी जाती है.

एंटरप्राइजिंग: एक एंटरप्राइजिंग इन्वेस्टर के रूप में, आपका प्राथमिक उद्देश्य आपकी पूंजी को मध्यम से लंबी अवधि तक बढ़ाना होगा. आप इक्विटी मार्केट की जटिलताओं और लंबी अवधि में बेहतर प्रदर्शन करने की उनकी क्षमता को समझ सकते हैं और अतिरिक्त जोखिम उठाना चाहते हैं. आपको पता होगा कि आपके द्वारा किए गए इन्वेस्टमेंट पर में कम मिल सकती है. इस प्रोफ़ाइल में निवेशकों का वित्तीय परिसंपत्ति आवंटन दीर्घकालिक वृद्धि परिसंपत्तियों जैसे ईक्विटी म्यूचुअल फंडों में निवेश के जरिए वृद्धि हासिल करने का लक्ष्य रखता है और निवेश का एक उपयुक्त अंश नियत आय निवेशों में लगाया जाता है. इस प्रोफाइल के निवेशक को बीच-बीच में मार्केट के उतार-चढ़ाव, और उसकी पूंजी को मध्यम श्रेणी का जोखिम, देखना पड़ सकता है और इस प्रकार के निवेशकों के लिए 15-20 साल के होल्डिंग पीरियड की सलाह दी जाती है.

एग्रेसिव: एक ग्रोथ इन्वेस्टर के रूप में, आपका प्राथमिक उद्देश्य लंबी अवधि में आपकी पूंजी को बहुत एग्रेसिव रूप से बढाना होगा. आपको अतिरिक्त जोखिमों को लेने का अनुभव हो सकता है, आप अल्पावधि अस्थिरता से प्रभावित नहीं होते और बाजार के माहौल के आधार पर बहुत आक्रामक निर्णय लेंगे. आपको पता होगा कि आपको आपके द्वारा इन्वेस्टमेंट की गई राशि से बहुत कम राशि मिल सकती है. इस प्रोफाइल में बारंबार कीमत में उतार-चढ़ाव आएंगे और पूंजी के लिए ऊंचा जोखिम होगा, और इसके लिए 20 साल या अधिक की होल्डिंग अवधि की सलाह दी जाती है.


स्कोर

स्कोरिंग प्रणाली :

0-10: सेक्योर

11-20: कंज़र्वेटिव

21-30: बैलेंस्ड

31-40: एंटरप्राइजिंग

41-50: एग्रेसिव